19 साल के अंकित ने सिद्धू मूसेवाला पर दोनों हाथों से गोलियां,गैंग का सबसे छोटा शूटर है था अंकित

19 साल के अंकित ने सिद्धू मूसेवाला पर दोनों हाथों से गोलियां,गैंग का सबसे छोटा शूटर है था अंकित

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 04 Jul, 2022 04:51 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर


हिमाचल जनादेश ,न्यूज़ डेस्क 
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moosewala) की हत्या में शामिल लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार गैंग के दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस इस मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।


स्पेशल सेल लगातार मूसेवाला हत्याकांड के शूटर्स को गिरफ्तार कर रही है। दिल्ली पुलिस ने अब 3 जुलाई रात 11 बजे के करीब दो शूटर्स अंकित सिरसा और सचिन भिवानी को दिल्ली के कश्मीरी गेट इलाके से गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस इन शूटर्स की तलाश में झारखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में कर रही थी।

गैंग का सबसे छोटा शूटर है अंकित
पुलिस के मुताबिक, सोनीपत का रहने वाला अंकित इस मॉड्यूल का सबसे छोटा शूटर था। वह महज चार महीने पहले ही गैंग में शामिल हुआ था और उसने मूसेवाला के सबसे करीब जाकर दोनों हाथों से गोलियां चलाई थीं। अंकित पर राजस्थान में भी हत्या की कोशिश के दो मामले दर्ज हैं।

पुलिस ने इसके अलावा अंकित का दोस्त सचिन भिवानी को गिरफ्तार किया है जिसने इन आरोपियों को छिपाने का आश्रय दिया था और शूटर्स की काफी मदद की थी। हरियाणा का रहने वाला सचिन भिवानी राजस्थान में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का काम देखता है। वह राजस्थान के चुरू में एक अन्य मामले में भी वॉन्टेड है। 

दिल्ली पुलिस ने इस हत्याकांड में अभी तक 2 शूटर्स को गिरफ्तार किया है जिनमें पहला प्रियव्रत उर्फ फौजी और दूसरा अंकित है। पुलिस के मुताबिक, इस मॉड्यूल को लगातार विदेश से कॉल आ रही थीं। पहली कॉल घटना से एक रात पहले 12 बजे की गई थी और फिर घटना से कुछ देर पहले कॉल की गई और सूचना दी कि मूसेवाला का गेट खुल गया है और वो बिना सुरक्षा के बाहर निकला है।

35 बार बदली थी लोकेशन
हत्या के बा इन शूटर्स ने करीब 35 बार अपनी लोकेशन बदली थीं। इन आरोपियों का पता था कि उनके पीछे मल्टीप्ल एजेंसी लगी हुई हैं, इसलिए ये लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे थे। ये आरोपी छिपने के लिए फतेहाबाद, पिलानी, बिलासपुर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और कच्छ पहुंचे थे और कहीं भी ये एक लोकेशन पर 24 घंटे से ज्यादा नहीं रुके थे।


कच्छ में प्रियव्रत फौजी से अलग हुआ था अंकित
कच्छ में ही प्रियव्रत उर्फ फौजी से अंकित अलग हुआ था क्योंकि फौजी बिना मास्क के घूमने लगा था और अंकित को डर था कि फौजी के कारण सब लोग न पकड़े जाएं, इसलिए वो फौजी से अलग हो गया था। हालांकि फौजी ने अपना हुलिया बदलने के लिए अपनी दाढ़ी को काफी छोटा कर लिया था।

पुलिस के अनुसार, अंकित और सचिन के पास से 9 एमएम की एक पिस्टल और उसके 10 कारतूस, 30 एमएम की एक पिस्टल और उसके नौ कारतूस, पंजाब पुलिस की तीन वर्दी, दो मोबाइल फोन, एक डोंगल और सिम कार्ड बरामद किया गया है। जो पंजाब पुलिस की वर्दी इनके पास मिली है वो वारदात में इस्तेमाल करनी थी, लेकिन आरोपियों ने वर्दी को अपने पास ही रखा था, क्योंकि इनकी प्लानिंग थी कि कहीं किसी राज्य में अगर इन्हें पकड़े जाने का डर हो तो ये फरार होने के दौरान वर्दी पहन सकते हैं।


मूसेवाला की हत्या के मामले में पिछले महीने स्पेशल सेल ने दो 'शूटर' समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। इनकी पहचान हरियाणा के सोनीपत जिले के निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले के रहने वाले कशिश और पंजाब के बठिंडा निवासी केशव कुमार (29) के तौर पर हुई है।

गौरतलब है कि पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की पंजाब के मानसा जिले में 29 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.