सिद्धू को कांग्रेस न दे पाई जो सजा, वह सुप्रीम कोर्ट ने दी, फैसले पर बोले सुखजिंदर रंधावा

सिद्धू को कांग्रेस न दे पाई जो सजा, वह सुप्रीम कोर्ट ने दी, फैसले पर बोले सुखजिंदर रंधावा

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 19 May, 2022 04:36 pm राजनीतिक-हलचल क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार देश और दुनिया लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर आधी दुनिया


हिमाचल जनादेश ,न्यूज़ डेस्क 
नवजोत सिंह सिद्धू को 1988 के रोड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक साल जेल की सजा सुनाई है। इस पर नवजोत सिंह सिद्धू ने रिएक्शन देते हुए कहा है कि वह कानून का पालन करेंगे। वहीं कांग्रेस के नेता सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इसे लेकर उन पर तीखा तंज कसा है। 

पंजाब के डिप्टी सीएम रहे सुखजिंदर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले को कोई भी चुनौती नहीं दे सकता है। नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस को जो नुकसान पहुंचाया है, उसकी कोई भरपाई नहीं की जा सकती। कांग्रेस उनके खिलाफ जो नहीं कर पाई, वह सुप्रीम कोर्ट ने कर दिया है।


जानिए क्या है वह मामला जिसमें नवजोत सिंह सिद्धू को हुई जेल
सुखजिंदर सिंह रंधावा को नवजोत सिंह सिद्धू के आलोचकों में शुमार किया जाता है। वह अकसर सिद्धू पर हमला बोलते हुए उन्हें अस्थिर व्यक्ति बता चुके हैं। रंधावा ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट के फैसले को कोई चुनौती नहीं दे सकता। सिद्धू ने जो नुकसान कांग्रेस का किया, उसे भी खत्म नहीं किया जा सकता। कांग्रेस उनके खिलाफ जो नहीं कर पाई, वह काम अदालत ने किया है। 

फरवरी में ही मैंने राहुल गांधी से कहा था कि नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ को कांग्रेस से बाहर कर देना चाहिए।' बता दें कि आज ही सुनील जाखड़ भाजपा में शामिल हो गए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस से उनका 50 साल पुराना नाता भी खत्म हो गया है। 

रोड रेज मामले में सिद्धू को एक साल की सजा, 1988 का है मामला
गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ दोनों ही कांग्रेस से नाराज चल रहे थे। यही नहीं सुनील जाखड़ पर तो ऐक्शन लेते हुए कांग्रेस ने उन्हें सभी पदों से हटा दिया था और अब वह भाजपा में शामिल हो गए हैं, जबकि सिद्धू पर भी अनुशासन की तलवार लटक रही है।

 पंजाब विधानसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस की समीक्षा में भी सिद्धू के रोल पर सवाल उठे थे। कांग्रेस के कई नेताओं ने सिद्धू पर हमला बोला था और कहा था कि उनकी ओर से अपनी ही सरकार पर खुलकर हमले किए गए थे। इससे जनता के बीच पार्टी बंटी हुई दिखी और यह हार का प्रमुख कारण बन गया।
 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.