जिला चम्बा में कृषि कार्यों पर 2 करोड़ रुपए की अनुदान राशि प्रदान - उपायुक्त डीसी राणा

जिला चम्बा में कृषि कार्यों पर 2 करोड़ रुपए की अनुदान राशि प्रदान - उपायुक्त डीसी राणा

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 05 May, 2022 08:11 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल विज्ञान व प्रौद्योगिकी लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा आधी दुनिया


हिमाचल जनादेश,चम्बा (ब्यूरो )
उपायुक्त डीसी राणा ने हिमगिरी क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं का लाभ उठा रहे किसानों के खेतों का लिया जायजा
कृषि अधिकारियों के साथ सलूणी में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा भी की


प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा कृषि विभाग के माध्यम से किसानों के हित में विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं।उपायुक्त डीसी राणा ने आज उपमंडल सलूणी के हिमगिरी क्षेत्र में कृषि विभाग और ग्रामीण विभाग द्वारा क्रियान्वित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत किए गए कार्यों का निरीक्षण किया। 

इस दौरान उपायुक्त ने गांंव दुनुन तथा देवगाह में 16 लाख रूपये की अनुदान सहायता से स्थापित दो कस्टम हायरिंग सेंटर, मेरु गांव में किसानों के खेतों में लगे फब्बारा सिंचाई योजना व खेतों में उगाई गई सब्जियों का निरीक्षण किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने गांव खंडियारु में किसान चेत राम के खेतों में कृषि विभाग द्वारा 3.35 लाख रूपये अनुदान पर लगाई गई 400 मीटर लम्बी सौर ऊर्जा संचालित बाड़, गांव हिमगिरि में हिमपाल सिंह को निशुल्क उपलब्ध करवाए गए 100 हींग के पौधों की खेती और गांव-सुधेट, भादवा व लडेर में कृषि विभाग द्वारा 10 लाख रूपये से निर्मित 3 लघु सिंचाई योजनाओं का निरीक्षण किया।

उपायुक्त ने लगभग 5 लाख रूपये की लागत से बन रही एक संचाई योजना का भी निरीक्षण किया।इस दौरान उन्होंने कहा कि हिमगिरी क्षेत्र में सूक्ष्म सिंचाई योजना पर बेहतर कार्य किया जा रहा है और यहां लोग बे मौसमी सब्जियां और नकदी फसलों की तरफ बढ़ रहे हैं जिससे आने वाले समय में कृषि आधारित गतिविधियां और बढ़ेंगी व किसानों की आर्थिकी भी मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि इन गतिविधियों से यहां के लोगों की आजीविका भी बेहतर होगी। और इस क्षेत्र में आने वाले समय में कृषि आधारित योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित बनाया जाएगा ताकि यहां के लोगों को अधिक से अधिक लाभ मिले।

इसके अतिरिक्त उपायुक्त डीसी राणा ने कृषि अधिकारियों के साथ वर्ष 2021- 22 में विकास खंड सलूणी में उपलब्धियों की समीक्षा करते हुए कहा कि किसानों की फसलों की पैदावार बढ़ाने के लिए कृषि विभाग द्वारा विभिन्न फसलों की उन्नत किस्मों के बीज उपलब्ध करवाए जा रहे हैं Iउन्होंने कहा कि गत वर्ष में कृषि विभाग द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 162 किवंटल गेहूं , 486 किवंटल मक्की , 935 किवंटल आलू, तथा 520 किवंटल मटर बीज विकासखंड सलूणी के किसानों को अनुदान पर उपलब्ध करवाए गया है I

उन्होंने यह भी कहा कि फसल उत्पादन की लागत को कम करने के लिए किसानों को अनुदान पर कृषि उपकरण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं I राज्य कृषि यंत्रीकरण योजना तथा केंद्रीय प्रायोजित योजना के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के दौरान 45 पॉवर वीडर, 20 ब्रश कटर पर 17.75 लाख रूपये , मक्की के 10 थ्रेशर पर 70 हजार रूपये व गेहू के 15 थ्रेशर खरीदने पर 48 हजार लाख रूपये का अनुदान दिया गया I

डीसी राणा ने कृषि विभाग के माध्यम से ही विकास खंड सलूणी में राष्ट्रीय सतत खेती मिशन के अंतर्गत इस वर्ष अप्रैल महीने में 150 किसानों को 15 हजार टमाटर के पौधे निशुल्क उपलब्ध करवाए गए तथा 16 देसी नस्ल की गाय खरीदने पर 16 किसानों को 3.20 लाख रूपये अनुदान दिया गया Iउन्होंने कहा कि वर्ष 2021-22 में इस विकासखंड में प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना व अन्य योजनाओं के अंतर्गत 16 किसान प्रशिक्षण व जागरूकता शिविरों का आयोजन किया गया I 

कृषि विभाग द्वारा पिछले वर्ष इस विकास खंड के 500 किसानों को मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड निशुल्क वितरित किए गए Iभू एवं जल संरक्षण योजनाओं की जानकारी देते हुए डीसी राणा ने कहा कि किसानों के खेतों में फसलों की पैदावार को सुनिश्चित करने और बढ़ाने के लिए सिंचाई के अंतर्गत क्षेत्रफल को बढ़ाना आवश्यक है I इसलिए सिंचाई के अंतर्गत क्षेत्रफल को बढ़ाने के लिए वर्ष 2021-22 में किसानों के खेतों में 28 जल भण्डारण टैंकों को बनाने के लिए 97.70 लाख रूपये व्यय किये गए I भू एवं जल संरक्षण कार्यों के अंतर्गत व्यक्तिगत स्प्रिंकलर व ड्रिप लगाने के लिए 20 किसानों को 15.18 लाख रूपये का अनुदान दिया गया है।

उपायुक्त ने कहा कि बीजों, कृषि रसायनों तथा कृषि उपकरणों तथा भू एवं जल संरक्षण इत्यादि कार्यों पर वर्ष 2021-22 में लगभग कुल 205.19 लाख रूपये का अनुदान दिया गया। 

डीसी राणा ने कहा वर्तमान में कृषि विभाग के सलूणी स्थित कार्यालय में मक्की का बीज, चारे की फसलों का बीज, एचडपीइ पाइप, स्प्रे पंप सभी किसानों के लिए अनुदान पर उपलब्ध है। उपायुक्त ने इस दौरान ग्रामीणोंं की समस्याओं को भी सुना और उनके निराकरण के लिए मौजूद अधिकारियों को भी आवश्यक दिशा  निर्देश  जारी किए। 

इस दौरान उप निदेशक कृषि डॉ कुलदीप धीमान ,एसडीएम सलूणी डॉ स्वाति गुप्ता, खंड विकास अधिकारी सलूणी निशि महाजन ,उपमंडलीय भू संरक्षण अधिकारी बनीखेत डॉ योगराज, विषयबाद विशेषज्ञसलूणी डॉ पवन सैनी भी उपस्थित रहे I

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.