संपादकीय: अधूरे सपनों की कहानी, भरमौर विधानसभा की निशानी.. 

संपादकीय: अधूरे सपनों की कहानी, भरमौर विधानसभा की निशानी.. 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 14 Apr, 2022 08:50 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार लाइफस्टाइल सम्पादकीय ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश, चम्बा(ब्यूरो)

वक्त बदला, हालात बदले... कुछ न बदला तो भरमौर विधानसभा की कहानी.... आज भी वही मंजर, दिलों में चुभोता खंजर..... 
अपने आप को ठगा सा महसूस करती है इस क्षेत्र की भोली भाली जनता, जो सीमित है बस एक बटन दबाने तक, वो भी सिर्फ चुनावों के वक्त.. उसके बाद जनता को भुला दिया जाता है। 

 गौरतलब रहे कि इस क्षेत्र ने हिमाचल को बडे़ बडे़ अधिकारी दिए हैं जिनका  अपने अपने क्षेत्र में अहम योगदान व बोलवाला है, वावजूद इसके भी न जाने इस पावन देवभूमि को पिछड़ेपन से कब निजात मिलेगी। कब कोई ऐसा व्यक्तित्व मसीहा बन कर आएगा और आमजन को तमाम तकलीफों से निजात दिलाने का पुनीत कार्य करने का हृदय से प्रयास करेगा। 

एक नजर इधर भी-मुख्यमंत्री ने चम्बा विधानसभा क्षेत्र के लिए किए196 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास

आज आलम यह है कि इस क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं इतनी चरमरा चुकीं हैं कि कभी कभी ऐसा लगता है कि क्या सच में ही हम 21 वीं शताब्दी में जी रहे हैं या... आदिवासी ही हैं.... सडकों पर सफर करने का अनुभव क्या होता है यह उनको नहीं पता जो महंगी और सुविधाजनक गाडियों में सफर करते हैं... अहसास होता है तो उनको जो रोज धूल फांकने को मजबूर हैं। 

दुख होता है तो उनको जो 100 रुपये की दवाई के इलाज के लिए 10000 खर्च करने को लाचार हैं... तकलीफ है तो उनको जो  अपने बच्चों को विज्ञान की शिक्षा प्रदान करने के लिए शहर में किराया देकर अपनी मेहनत की कमाई को दांव पर लगाते हैं... न जाने कितने ऐसे विषय हैं जिन पर गहन चिंतन की आवश्यकता है। 

राजनेताओं की समझ में न जाने कब यह बात आएगी कि इस क्षेत्र को वास्तव में क्या चाहिए और वो किस हद तक अपने दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं..... हकीकत में देखा जाए तो मात्र ठेकेदारी व्यवस्था ही चरम सीमा पर है.... बाकी सब छलावा है....... सकारात्मक और विकासशील सोच तो कोसों दूर है.... 
राजनीतिक सूझबूझ और प्रतिबद्धता की दरकार है............ शेष आने वाला वक्त ही तय करेगा...... 

लेखक: विक्रमजीत वर्मा 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.