सुनो सरकार:कांगड़ा-चम्बा सीमा हटली के पास बर्षाशालिका की दरकार, विभाग ने सड़क चौड़ा करने के लिए तोडा था शेड 

सुनो सरकार:कांगड़ा-चम्बा सीमा हटली के पास बर्षाशालिका की दरकार, विभाग ने सड़क चौड़ा करने के लिए तोडा था शेड 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 25 Nov, 2021 03:53 pm प्रादेशिक समाचार सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा काँगड़ा आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश, भटियात (नागेश पठानियां)

भटियात क्षेत्र के अंतर्गत द्रम्मन के साथ लगती चम्बा-कांगड़ा सीमा के पास बर्षा शालिका  न होने से लोगों को बहुत बड़ी समस्या से गुजरना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा दिक्कत चार पंचायतों (गोला, हटली, बलाना, थुलेल) के लोगों को झेलना पड़ रही है। बार-बार सबंधित बिभाग व सरकार से मांग करने पर स्थिति वैसी ही बनी हुई है। इस पर लोगों ने गहरा रोष व्यक्त किया है।

ग्राम पंचायत हटली व बलाना के प्रधान का कहना है कि द्रम्मन से बासा गोला के लिए भी (द्रम्मन) हटली से बसें और निजी गाड़ियां चलती हैं। जहां तक कि यहां से थुलेल, सिहुंता, चुवाडी, चम्बा जाने वाले यात्री भी यहां बसों का इंतजार करते हैं। लेकिन बर्षाशालिका न होने से यात्रियों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। गर्मियों के मौसम में और बारिश के दिनों में लोगों को दुकानों का सहारा लेना पड़ता है। दुकानदारों की खरी-खोटी बातें सुनना पड़ती हैं। 

एक नजर इधर भी-मुख्यमंत्री स्वावलंबन के 129 मामलों में 23.51 करोड़ रूपए की दी स्वीकृति

लोगों के अनुसार पांच साल पहले यहां बर्षा शालिका हुआ करती थी लेकिन सड़क चौड़ा करने के लिए इसे तोड़ दिया गया। उसके बाद यहां आज तक बर्षा शालिका का निर्माण नहीं किया गया। इस लिए एक बार फिर लोगों ने लोक निर्माण व सरकार से मांग की है कि द्रम्मन के साथ लगती चम्बा –कांगड़ा सीमा के पास बर्षाशालिका बनाई जाए ताकि आने जाने वाले यात्रियों को निजात मिल सके।

लोक सभा सांसद किशन कपूर से इस विषय पर बात हुई तो उन्होंने कहा कि जिला चम्बा की अगली बैठक में लोक निर्माण विभाग के उच्च अधिकारियों को बर्षा शालिका बनाने के आदेश दे दिए जाएंगे।

हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग के सप्तम वृत डलहौजी के अधीक्षण अभियंता से इस विषय पर बात हुई तो मामला ध्यान में आया है। सबंधित अधिकारियों को इस पर अमलीजामा पहनाने के आदेश दे दिए जाएंगे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.