मुख्यमंत्री ने वन अग्नि रोकथाम जागरूकता वाहनों को झंडी दिखा कर किया रवाना 

मुख्यमंत्री ने वन अग्नि रोकथाम जागरूकता वाहनों को झंडी दिखा कर किया रवाना 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 10 Mar, 2021 02:45 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल विज्ञान व प्रौद्योगिकी लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर शिमला स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,शिमला (ब्यूरो )

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश वन विभाग की अग्निशमन तैयारियों के अन्तर्गत 2021 सीजन के तहत आज यहां अपने सरकारी निवास ओक ओवर से तीन वन अग्नि रोकथाम जागरूकता वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ये वाहन आने वाले आठ दिनों में राज्य में तीन अलग-अलग मार्गों से होकर गुुजरेंगे। प्रत्येक वाहन में पीए सिस्टम के माध्यम से जंगल की आग के दुष्प्रभावों के बारे में समुदाय और हितधारकों को जागरूक किया जाएगा। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि आग लगने की घटनाओं से निपटने के वन विभाग के प्रयासों में हर संभव सहायता करें।

जय राम ठाकुर ने कहा कि जंगल की आग न केवल वन संपदा बल्कि क्षेत्र की जैव-विविधता, पारिस्थितिकी और पर्यावरण के साथ-साथ जीवों और वनस्पति को भी क्षति पहुंचाती है। ग्रीष्मकाल के दौरान बारिश न होने के कारण जंगल में चीड़ की पत्तियां एकत्रित हो जाती हैं जिसके कारण आग लगने की घटनाएं होती हैं। उन्होंने कहा कि जंगल की आग से मिट्टी की उर्वरता को क्षति, भू-क्षरण, जल स्रोतों के सूखने और जैव विविधता पर विपरीत प्रभाव पड़ते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण लोगों की आजीविका जंगलों के पारिस्थितिकीय तंत्र से जुड़ी हुई है और वनों का दीर्घकालिक स्वास्थ्य उनके लिए भी लाभदायक होता है। वनों में आग लगने का मौसम निकट आ रहा है और आग से निपटने के प्रयासों में समुदाय की भागीदारी महत्वपूर्ण है। ऐसे परिदृष्य में जंगल की आग के दुष्प्रभावों के बारे में समुदाय को जागरूक करने की आवश्यकता है और इस प्रकार के जागरूकता अभियान स्थानीय बोलियों और प्रदर्शनियों में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों तक संदेश पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।


उन्होंने आशा व्यक्त की कि वन विभाग द्वारा उठाए गए कदमों से जंगल की आग की घटनाओं को रोकने में काफी मदद मिलेगी।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर वन अग्नि पर एक पुस्तक और विवरणिका का विमोचन भी किया।प्रधान मुख्य अरण्यपाल डाॅ. सविता ने कहा कि जागरूकता अभियान के दौरान आठ दिनों में तीन अलग-अलग मार्गों पर 45 स्टेशनों को प्रचार टीम द्वारा कवर किया जाएगा। वाहन जंगल की आग के विभिन्न पहलुओं पर सूचनात्मक सामग्रियों से लैस हैं।इस अवसर पर वरिष्ठ वन अधिकारी और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।  
 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.