कभी हिमाचल के छोटे से गांव में पेड़ के नीचे पढ़ता था ये शख्स,अब भारत के 10 अमीरों में हुआ शुमार

कभी हिमाचल के छोटे से गांव में पेड़ के नीचे पढ़ता था ये शख्स,अब भारत के 10 अमीरों में हुआ शुमार

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 03 Mar, 2021 04:14 pm प्रादेशिक समाचार सुनो सरकार देश और दुनिया लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा ऊना मनोरंजन स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,धर्मशाला (संवाददाता )

हुरून ग्लोबल ने  अमीरों की नई लिस्ट जारी की है।  इसी बीच, एक नाम की और भी चर्चा हो रहा है, जो बहुत लोगों के लिए नया भी हो सकता है।

यह नाम है जय चौधरी हिमाचल के जिन्होंने अरबपतियों की लिस्ट में अपना स्थान बनाया है। 62 साल के जय चौधरी का जन्म जिला ऊना के गांव पनोह में पिता भगत सिंह और माता सुरजीत कौर के घर में हुआ था। तीन भाइयों में सबसे छोटे जय चौधरी की तीन बहनें है। 

जय चौधरी की संपत्ति में पिछले एक साल में काफी बढ़ोतरी हुई है, जिस वजह से उनका नाम इस लिस्ट में शामिल हो गया है।ऐसे में जानते हैं कि जय कौन हैं और वो किस चीज का व्यापार करते हैं। सबसे खास उनकी सक्सेस स्टोरी भी है,क्योंकि उनके इस मुकाम पर पहुंचने के पीछे एक संघर्षपूर्ण कहानी है।  उन्होंने एक मुश्किल भरा रास्ता तय करने के बाद यह स्थान हासिल किया है। 

आइए जानते हैं जय चौधरी से जुड़ी कई खास बातें…

62 साल के जय चौधरी साइबर सिक्योरिटी फर्म Zscaler के मालिक हैं।  उन्होंने 2021 की इस लिस्ट में 577 नंबर पर छलांग लगाई है और भारत के टॉप 10 अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में यह स्थान हासिल किया है। उनका परिवार Zscaler के 45 हिस्से का मालिक है और आज इस कंपनी की वर्थ 28 बिलियन डॉलर है। 

हुरून लिस्ट के अनुसार, चौधरी की संपत्ति में इस साल 271 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है और अब उनकी संपत्ति 13 बिलियन हो गई है।  चौधरी की कंपनी को कोरोना काल में काफी फायदा हुआ। डिजिटल प्लेटफॉर्म जैसे जूम, नेटफ्लिक्स के बढ़ने से उन्हें काफी फायदा हुआ।  अब 2021 के दूसरे क्वार्टर में कंपनी ने 157 मिलियन डॉलर के कारोबार का लक्ष्य रखा है। 

आपको बता दें कि जय चौधरी हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के पनोह नाम के एक हिमालयी गांव में बड़े हुए। बचपन में उनके गांव तक बिजली नहीं पहुंच पाती थी,जिसकी वजह से से उन्हें पेड़ के नीचे पढ़ाई करनी पड़ती थी। उन्होंने कई साल पहले ट्रिब्यून को दिए एक इंटरव्यू में कहा था, ‘मैं पड़ोस के गांव धूसरा में अपने हाई स्कूल में पैदल जाता था,जो मेरे गांव से 4 किमी दूर था।

वैसे चौधरी हिमाचल के रहने वाले हैं, लेकिन अभी अमेरिका के सिटीजन हैं। वो पहले भी कई तरह के व्यापार कर चुके हैं,उन्होंने आईआईटी से पढ़ाई की है और उसके बाद University of Cincinnati से एमबीए किया है, साथ ही वे AirDefense, Secure IT, CoreHarbor, CipherTrust जैसी कंपनियों से भी जुड़े रहे हैं। 
 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.