सोलन :आग की चपेट में आई दो मासूम सगी बहनें,एक की मौत और दूसरी लड़ रही मौत से जंग

सोलन :आग की चपेट में आई दो मासूम सगी बहनें,एक की मौत और दूसरी लड़ रही मौत से जंग

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 23 Feb, 2021 12:43 pm प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर सोलन स्वस्थ जीवन

हिमाचल जनादेश ,सोलन (संवाददाता )
 
जिला सोलन  के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के तहत गांव दासोमाजरा में हुए अग्निकांड में एक सात वर्षीय मासूम बच्ची की झुलसने से मौत हो गई, जबकि एक अन्य मासूम जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही है। यह दर्दनाक हादसा सोमवार दोपहर बाद करीब अढ़ाई बजे तब पेश आया, जब अचानक लगी आग से तीन झुग्गियां जलकर राख हो गईं। 

आग की लपटों में दो सगी बहनें, जिनमें एक सात वर्षीय जिंदा जल गई, जबकि एक छह माह की बच्ची गंभीर रूप से झूलस गई। दोनों बच्चियों को गंभीर अवस्था में बद्दी अस्पताल लाया गया, लेकिन हालत नाजुक होने पर उन्हें पीजीआई रैफर कर दिया गया।

उपमंडल प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार ने मौके पर आकर पीडि़यों को मुआवजा राशि प्रदान की। जानकारी के मुताबिक यह दर्दनाक हादसा सोमवार दोपहर बाद हुआ।उस दौरान एक झुग्गी से अचानक उठी लपटों ने कुछ ही पलों में आसपास की दो और झुग्गियों को अपनी चपेट में ले लिया। इस दौरान झुग्गियों में सो रही दो मासूम बच्च्यिं आग की लपटों में आने से झुलस गईं।

दोनों बच्चियों को सीएचसी बद्दी में उपचार के लिए ले जाया गया, जहां हालत गंभीर होने के चलते दोनों को पीजीआई रेफर किया गया। वहां पर एक सात वर्षीय बच्ची की मौत हो गई, जबकि दूसरी बच्ची का उपचार चल रहा है। सूचना मिलते ही दमकल विभाग बद्दी की टीम मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया गया और बाकी झुग्गियों को आग की चपेट में आने से बचा लिया।

आगजनी की इस घटना में रूप सिंह निवासी यूपी की सात वर्षीय बेटी गौरी की झुलसने से मौत हो गई, जबकि दूसरी मासूम लक्ष्मी का पीजीआई में उपचार चल रहा है। मलपुर पंचायत के पूर्व प्रधान पोला राम चौधरी ने बताया कि दासो माजरा में मूलतः यूपी के अमरोवा जिले के तलावड़ा निवासी रूप सिंह, रामवीर व संजय ने झुग्गियां बना रखी हैं, घटना के समय तीनों काम पर गए थे।रूप सिंह की बच्ची अभी छह माह की थी, जिसके चलते रूप सिंह की पत्नी रचना झुग्गी में ही थी।

पीडि़ता ने बताया कि वह अपने छह माह की बच्ची लक्ष्मी को सुलाने के बाद पानी भरने चली गई। लक्ष्मी के साथ उसके बड़ी बहन गौरी भी सो गई। लेकिन जब तक वह पानी भर कर आई तो उसकी तीनों झुग्गियों में आग लगी हुई थी। जब बच्चियों को बाहर निकाला तो गौरी अचेत थी, जबकि लक्ष्मी अभी सांस ले रही थी।लोगों ने उसे बद्दी अस्पताल पहुंचाया गया, जहां पर लक्ष्मी को प्राथमिक उपचार के बाद पीजीआई रैफर कर दिया गया। इस हादसे में गौरी की मौत हो गई।

सूचना मिलते ही बद्दी से नायब तहसीलदार बलराज नेगी मौके पर पहुंचे और उन्होंने रूप सिंह को 10 हजार रुपए फौरी राहत के रूप में दिए जबकि संजय व रामवीर को पांच पांच हजार रुपए प्रदान किए। डीएसपी नवदीप सिंह ने भी मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस आग लगने के कारणों की जांच कर रही है।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.