जीवीके कंपनी ने चार जिलों के 108 एंबुलेंस के पांच ईएमटी को नौकरी से किया बर्खास्त,पढ़े पूरा मामला 

जीवीके कंपनी ने चार जिलों के 108 एंबुलेंस के पांच ईएमटी को नौकरी से किया बर्खास्त,पढ़े पूरा मामला 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 11 Jan, 2021 06:28 pm प्रादेशिक समाचार सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर शिमला स्वस्थ जीवन आधी दुनिया


हिमाचल जनादेश,शिमला (ब्यूरो )

जीवीके कंपनी ने चार जिलों के पांच ईएमटी को बर्खास्त कर दिया है। 108 एंबुलेंस के पांच ईएमटी इमरजेंसी मेडिकल तकनीशियन को जीवीके कंपनी ने बर्खास्त कर दिया है। एंबुलेंस यूनियन और कंपनी के बीच मासिक वेतन पर चल रहा विवाद बढ़ता चला जा रहा है। 

जानकारी के अनुसार सोलन, सिरमौर, शिमला और हमीरपुर के पांच ईएमटी को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। मासिक वेतन को लेकर 8 नवंबर से शुरू हुई पेन डाउन स्ट्राइक के चलते पांच ईएमटी को निकाला गया है।सोलन से एक ईएमटी को बर्खास्तगी पत्र देकर निकाला गया है, जबकि एक महिला ईएमटी को दिसंबर माह की 28 तारीख से छुट्टी दे दी गई है। सभी ईएमटी ने कंपनी पर मानसिक शोषण करने का आरोप लगाया है। कोरोना महामारी से लगातार जंग लड़ रहे प्रदेश सरकार के कोरोना योद्धाओं को बर्खास्त करने से कर्मचारियों में रोष है।

एक नजर इधर भी - डलहौजी :नगर एवं ग्राम नियोजन नियमों की अवहेलना पर तीन भवन मालिकों को जारी किए नोटिस

ईएमटी शंशुधीन ने कहा कि कंपनी ने दिसंबर माह का वेतन दिए बिना निकाल दिया है। मासिक वेतन पर कंपनी के साथ पेनडाउन को भी काफी समय पहले खत्म कर दिया है। जिसके बाद कंपनी ने अपना बदला लेने के लिए उनके साथ चार अन्य ईएमटी को टर्मिनेट कर दिया है।कंपनी ने हमेशा से एंबुलेंस कर्मचारियों का शोषण किया है। एंबुलेंस यूनियन के प्रधान पूर्ण चंद ने कहा कि जीवीके कंपनी ने चार जिलों के पांच ईएमटी को बर्खास्त कर दिया है।कंपनी के खिलाफ सभी ईएमटी सोमवार को उच्च न्यायालय भी चले गए हैं।

जीवीके प्रभारी रजनीश पॉल ने कहा कि ईएमटी को दुर्व्यवहार के चलते टर्मिनेट किया गया है। एक महिला ईएमटी को 28 तारीख से छुट्टी दे दी गई है। महिला ईएमटी की कोविड केस वाहन में ड्यूटी थी, लेकिन महिला काम के प्रति बहानेबाजी लगा रही थी। 
 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.