चम्बा :उद्योग मंत्री से मिले गृह रक्षक के जवान ,12 महीने रोजगार दिलवाने की रखी मांग

चम्बा :उद्योग मंत्री से मिले गृह रक्षक के जवान ,12 महीने रोजगार दिलवाने की रखी मांग

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 30 Nov, 2020 08:48 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,चम्बा (दीपक महाजन)

जिला चंबा आज गृह रक्षक विभाग के प्रधान जोगिंदर सिंह चौहड़िया राष्ट्रीय वक्ता एवं ऑल इंडिया होमगार्ड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष की आगुवाही में 20 जवानों का एक प्रतिनिधिमंडल उद्योग मंत्री विक्रम सिंह से परिधि गृह चंबा में मिला। जिसमें उन्होंने 12 माह के लिए होमगार्ड के जवानों को रोजगार दिलवाने के बारे ज्ञापन सौंपा।

एक नजर इधर भी- शिमला : राज्य सरकार हिमाचल के सत्त विकास के लिए प्रतिबद्व, इसलिए प्रदेश को निवेशक मित्र गंतव्य बनाने पर दे रही है बल

उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ने उन्हें आश्वासन दिया और जो कोविड ड्यूटी में जो 100 जवान ड्यूटी पर लगे थे, उनको ड्यूटी से हटा दिया गया है।उनको दोबारा से अपनी ड्यूटी पर तैनात करने का भी आश्वासन दिया। होमगार्ड के प्रधान ने कहा कि जिला चंबा में करीब 700 के करीब होमगार्ड के जवान जो कि विभिन्न स्थानों, स्थलों पर अपनी ड्यूटी कर्तव्य एवं निष्ठा के साथ निभा रहे हैं।

होमगार्ड के 12 माह में जब भी जिस विभाग को जवानों की जरूरत पड़ती है तो जवानों को उस विभाग में तैनात कर दिया जाता है। इसके अलावा जिस समय उस विभाग को जवानों की जरूरत नहीं रहती हैं तो, उन्हें घर बिठा दिया जाता है और हाल में करीब 100 से ज्यादा जवान,जो कि विभिन्न स्थानों पर अपनी ड्यूटी पर तैनात थे। 

वैश्विक महामारी करोना के दौरान इस महामारी कोविड-19 से निपटने के लिए ड्यूटी पर तैनात किए गए थे। जहां पर होमगार्ड के जवानों ने पूरी कर्तव्य निष्ठा के साथ अपना कर्तव्य निभाया था। परंतु अब होमगार्ड विभाग ने उन सभी जवानों को उनकी ड्यूटी से हटाकर अन्य जगह पर तैनाती ना देकर घर बिठा दिया हैं।

जिससे सभी जवानों को इस आपातकालीन स्थिति में अपने परिवार का पालन पोषण करना अति दुर्लभ हो गया है और उन्होंने मंत्री महोदय से होमगार्ड के साथ हो रहे अत्याचार पर गौर फरमाने के लिए कहा  है,ताकि भविष्य में होमगार्ड के जवान बेरोजगार ना हो सके।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.