महिला हेड-कॉस्टेबल को मिला पहला आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन, 76 बच्चों की बचाई थी जान

महिला हेड-कॉस्टेबल को मिला पहला आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन, 76 बच्चों की बचाई थी जान

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 19 Nov, 2020 05:39 pm देश और दुनिया लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर स्वस्थ जीवन शिक्षा व करियर आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,न्यूज़ डेस्क 

दिल्ली पुलिस में तैनात महिला पुलिसकर्मी सीमा ढाका आउटर नॉर्थ जिले के समयपुर बादली थाने में तैनात हैं। सीमा ने तीन महीने में 76 गुमशुदा बच्चों को तलाश किया है।

इसी के चलते सीमा ढाका की पदोन्नति करके उनको दिल्ली पुलिस के आयुक्त के आदेशानुसार एएसआई बना दिया गया है।

एक नजर इधर भी -अब तो हद हो गयी:लाहौल में एक व्यक्ति को छोड़कर पूरा गांव कोरोना की चपेट में

बता दें कि महिला हेड कांस्टेबल सीमा ढाका को यह इनाम लापता हुए 76 बच्चों को ढूंढ़ने के बाद मिला है। दिल्ली पुलिस आयुक्त एन. एन. श्रीवास्तव की ओर से घोषित प्रोत्साहन योजना के तहत उन्हें प्रमोशन दी गई है। सीमा आउट ऑफ टर्न प्रमोशन पाने वाली दिल्ली पुलिस की पहली कर्मचारी बन गई हैं। उन्होंने 76 लापता बच्चों का पता लगाया है, जिनमें से 56 बच्चे 14 साल से कम उम्र के हैं।

पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने इसके लिए शर्त रखी थी। इसके मुताबिक अगर कोई कांस्टेबल या हेड कांस्टेबल एक साल के अंदर 14 वर्ष से कम उम्र के कम से कम 50 बच्चों को खोज लेगा तो उसे आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन दिया जाएगा। इन बच्चों में से 15 बच्चों की उम्र 8 साल से कम होना अनिवार्य था।

दिल्ली पुलिस के PRO ने बताया कि इस साल अब तक 3507 बच्चों की मिसिंग रिपोर्ट दर्ज हुई है। इनमें 2629 बच्चों को ट्रेस किया जा चुका है। सबसे ज्यादा 1440 बच्चे पुलिस कमिश्नर की घोषणा के बाद बरामद किए गए हैं।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.