काँगड़ा :पेयजल योजना की जमीन पर लोग बांध रहे पशुओं को,शाम को बैठकर शराबी छलकाते है जाम

काँगड़ा :पेयजल योजना की जमीन पर लोग बांध रहे पशुओं को,शाम को बैठकर शराबी छलकाते है जाम

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 23 Oct, 2020 11:51 am प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,इंदौरा (संवाददाता )


पशुयों ओर शराबियों के लिए पेयजल योजना वनी आशियाना 


हिमाचल सरकार जनता को पानी की सहुलियत देने के लिए जल शक्ति विभाग को करोड़ों रुपए दे रही है और जगह जगह नई पेयजल योजनाए स्थापित की जा रही है और पुरानी पेयजल योजनाओं की दशा को सुधारा जा रही है। परंतु जल शक्ति विभाग उपमंडल इंदौरा के अधीन पड़ती बरोटा-ठाकुरद्वारा पेयजल योजना आज की विभाग की अनदेखी का शिकार होती दिखाई दे रही है।

एक नजर इधर भी - काँगड़ा :खड़े ट्रक के पीछे टकराई स्कूटरी एक की मौत,घायल युवक तड़फते रहे लोग बनाते रहे वीडियो

मंड क्षेत्र की सबसे पुरानी प्रमुख पेयजल योजना की दशा को सुधारने में जल शक्ति विभाग आज तक नाकाम ही सिद्ध हुआ है। इस योजना पर तीन गाँवो की लगभग दस हजार जनता निर्भर है। इस योजना की विभाग ने आज तक चारदीवारी तक नही करवाई है। जिसके चलते कुछ ग्रामीण टैंकों के पास अपने पशुयों को दिन रात बांध रहे है।

यही नही रोड के किनारे ओर पेयजल योजना के बाहर स्थानीय लोगो ने विभाग की जमीन पर जगह जगह ईंट ओर बजरी के ढेर लगा रखे है यही नही रोड की तरफ तो कई लोगो ने जल शक्ति विभाग की जगह पर अपने पशुयों के लिए तूड़ी के कुप्प बना रखे है।गैर तरीके से बनाए गए कुप्पो के कारण ही  कुछ ही दिन पहले इस योजना से निकाली गई नई पाइप लाइन को रोड किनारे से दबाकर मजबूरन पेयजल योजना के मध्य से जेसीवी से नाली निकालकर पाइप लाइन बिछानी पड़ी और नजायज तरीक़े से जगह पर कब्जा जमाने वाले लोगो पर कोई करवाई नही की।

हैरानी की बात यह है कि लोग पशु को बांध ही रहे है ओर जगह जगह गंदगी फैलाने के साथ साथ पेयजल योजना के अंदर लगे नलकूप से ही पशुयों को पानी भी पिला रहे है। अगर भवन की बात करे तो भवन भी पूरी तरह जर्जर हो रहा है और दरवाजो ओर खीड़कियो की हालत भी खस्ता हो रही है और बिजली की बैरिंग की हालत भी खराब हो गई है।

योजना पर तैनात कर्मचारियों का कहना है की लोगो को हम पशु बांधने से मना करते है तो हमारी एक बात नही सुनते है। शाम को पांच बजते ही योजना जी जगह में लगे आम के पेड़ों के नीचे शराबियों को जमाबड़ा लगा रहता है देर रात तक जाम छलकते दिखाई देते है और जब हम उनको मना करते है तो गाली गलौच ओर मारपीट पर उतारू हो जाते है। 

जानकारी के अनुसार काफी महीनों पहले इसकी चार दिवारी करने के कार्य का टेंडर किसी ठेकेदार को अबार्ड हो चुका है परंतु आज तक इस कार्य को अमलीजामा नही पहनाया गया है। आखिर अबार्ड किया हुआ कार्य ठेकेदार ने आज तक शुरू ही नही किया और विभाग ने आज इस ठेकेदार से चारदीवारी के काम को शुरू

क्यो नही करवाया है यह भी विभाग पर प्रश्नचिन्ह लगता है
इस संबंध में जब ठेकेदार मंजीत ठाकुर से बात की गई तो उसने कहा कि पेयजल योजना वाली जगह का साथ लगती जगह के मालिक के साथ कुछ विवाद  था जोकी अब मामला सुलझ चुका है और विभाग ने भी काम शुरु करने के आदेश दे दिए है जल्द ही काम शुरू कर रहा हूँ। 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.