धर्मशाला :सांसद किशन कपूर ने डल झील में चल रहे विकास कार्याे का किया निरीक्षण,कहा- पर्यटन और पौराणिक दृष्टि से डल झील का अपना विशेष महत्त्व

धर्मशाला :सांसद किशन कपूर ने डल झील में चल रहे विकास कार्याे का किया निरीक्षण,कहा- पर्यटन और पौराणिक दृष्टि से डल झील का अपना विशेष महत्त्व

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 22 Oct, 2020 07:27 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,धर्मशाला (ब्यूरो )

लोकसभा सांसद किशन कपूर ने आज वीरवार को धर्मशाला के नड्डी में डल झील का निरीक्षण किया तथा डल झील में चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया।उन्होंने अधिकारियों को इसके जीर्णोद्धार व रख-रखाव तथा कार्यों को समयबद्ध पूरा करने के निर्देश दिये।  

एक नजर इधर भी - धर्मशाला :कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक में तैनात महिला कर्मचारी ने फंदा लगाकर दी जान

किशन कपूर ने कहा कि पर्यटन और पौराणिक दृष्टि से डल झील का अपना विशेष महत्त्व है तथा हर वर्ष लाखों की संख्या में देश व विदेश से श्रद्धालु इसको निहारने के लिए आते हैं।उन्होंने कहा कि प्रदेश में धार्मिक पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और प्रदेश सरकार मंदिरों के सौंदर्यकरण और अन्य मूलभूत सुविधाओं को विकसित कर हर क्षेत्र को और अधिक बढ़ावा देने पर बल दे रही है।

कपूर ने डल झील के चारों तरफ नालों की डेªन लाइन ट्रीटमेंट करवाने के सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि डल झील के सौन्दर्यीकरण का जो कार्य चला है उसमें क्रेट वर्क न होकर स्टोन पीचिंग की जाए। उन्होेंने डल झील के समीप पार्किग बनाने के निर्देश दिये ताकि डल झील के सौंदर्य को निहारने आने वाले पर्यटकों को पार्किंग की सुविधा उपलब्ध  हो सके।

किशन कपूर ने कहा कि प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण व सृजनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने की दिशा में सरकार निरन्तर प्रयासरत है।उन्होंने कहा कि प्रकृति ने हिमाचल प्रदेश को असीम प्राकृतिक सौन्दर्य प्रदान किया है, जिसके परिणास्वरूप प्रदेश में लाखों की संख्या में स्वदेशी व विदेशी पर्यटक आते हैं।

कपूर ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन विकास की अपार सम्भावनाओं को देखते हुए अनेक बड़ी परियोजनाएं आरम्भ की गई हैं।एशियन विकास बैंक की सहायता से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अधोसंरचनात्मक सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। डल झील प्रकृति प्रेमियों के लिए एक अविस्मरणीय स्वर्ग से कम नहीं है।

इस अवसर आयुक्त नगर निगम प्रदीप ठाकुर, एसडीएम धर्मशाला डॉ.हरीश गज्जू, ज़िला पर्यटन विकास अधिकारी सुनयना शर्मा, जिला वन अधिकारी डॉ. संजीव कुमार, अधिशाषी अभियंता एडीबी शिमला श्रीधर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.