हिमाचल जनादेश खास खबर: चीन के  'अलगाववादी' बयान पर सीटीए ने ड्रेगन को दिखाया आइना, चीन को क्या दी सीटीए प्रशासन ने नसीहत पढ़े यहां

हिमाचल जनादेश खास खबर: चीन के  'अलगाववादी' बयान पर सीटीए ने ड्रेगन को दिखाया आइना, चीन को क्या दी सीटीए प्रशासन ने नसीहत पढ़े यहां

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 22 Oct, 2020 11:05 am राजनीतिक-हलचल देश और दुनिया सम्पादकीय ताज़ा खबर स्लाइडर आधी दुनिया


हिमाचल जनादेश, करतार चंद गुलेरिया 


चीन ने अमेरिकी विदेश विभाग में रॉबर्ट डेस्ट्रो और  सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन के अध्यक्ष डा. लोबसांग सांगे के बीच बैठक को "चीन विरोधी और अलगाववादी बताया है।

तिब्बत के मुद्दों के लिए विशेष समन्वयक और अमेरिकी विदेश विभाग में रॉबर्ट डेस्ट्रो, लोकतंत्र, मानवाधिकार और श्रम ब्यूरो के समवर्ती प्रमुख से सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन के अध्यक्ष डॉ लोबसांग सांगे से मुलाकात की।सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक बैठक है अमेरिकी राज्य विभाग के भवन में तिब्बती नेता की मेजबानी की गई थी। 

सीटीए ने कहा कि इस बैठक से अमेरिकी सरकार के द्वारा तिब्बती मुद्दों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी  यह पहली बार हुआ है कि  सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन के अध्यक्ष के बीच अमेरिका में बातचीत हुई है यह खबर देशव्यापी और विश्व स्तर पर प्रमुख अखबारों के पहले पन्ने पर चली। इस बातचीत का चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने चिढ़कर, कहा कि यह बैठक "चीन विरोधी और अलगाववादी है" और चीन इसका कड़ा  विरोध करता है। 

सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन ने कहा कि चीनी प्रवक्ता ने एक बार फिर अपनी सदियों पुरानी आधिकारिक बयानबाजी को ध्यान में रखते हुए तिब्बत के मुद्दे को पूरी तरह से "अलगाववाद" के रूप में चिह्नित किया। चीन के संविधान के ढांचे के भीतर वास्तविक स्वायत्तता की मांग के साथ चीन-तिब्बत मुद्दे को शांतिपूर्वक हल करने के अपने प्रयासों के लिए विश्व स्तर पर पहचाने जाने वाले सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन को अलगाववादियों '' के रूप में देखा है । सेन्ट्रल तिब्बतन एडमिनिस्ट्रेशन ने मध्य मार्ग दृष्टिकोण को अपनाया है, जो तिब्बत के लिए China एक चीन नीति ’को बनाए रखने के लिए वास्तविक स्वायत्तता की मांग करता है, जो कि चीनी प्रवक्ता ने अमेरिका पर उल्लंघन करने का आरोप लगाया। 

एक नजर इधर भी:-हिमाचल जनादेश विशेष खबर: पीएम मोदी की 'बढ़ी हुई दाढ़ी' का राज जानने के लिए देश में बढ़ने लगीं जिज्ञासाएं

चीनी प्रवक्ता झाओ लिजियन ने यह भी कहा कि तिब्बती राष्ट्रपति के साथ विशेष समन्वयक डेस्ट्रो की बैठक "एक गहन गलत संकेत" भेजने के लिए हुई। दरअसल, राष्ट्रपति डॉ संगे की विशेष समन्वयक रॉबर्ट डेस्ट्रो की बैठक के साथ एक संदेश भेजा गया था, लेकिन उस पर एक "गलत" नहीं था। इसने स्पष्ट और राजसी संदेश का संकेत दिया कि दुनिया भर के कई अन्य लोगों की तरह अमेरिका भी छह मिलियन तिब्बतियों की वाजिब आकांक्षाओं के लिए चीन-तिब्बत मुद्दे को हल करने के लिए अपनी सही खोज में सीटीए के साथ खड़ा है।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.