इस बार भाजपा विधायकों ने ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दामन में लगाया दाग

इस बार भाजपा विधायकों ने ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दामन में लगाया दाग

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 18 Oct, 2020 07:31 pm राजनीतिक-हलचल क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार देश और दुनिया लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,शंभू नाथ गौतम,वरिष्ठ पत्रकार

हाथरस गैंगरेप की घटना से अभी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उभर भी नहीं पाए थे कि एक बार फिर कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष के निशाने पर आ गए।‌'इस बार उत्तर प्रदेश सरकार को उन्हीं के पार्टी के विधायकों ने बदनाम कर दिया।

एक ओर जहां सीएम योगी कानून व्यवस्था और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कड़े नियम बना रहे हैं तो दूसरी ओर उनके अपने ही इस नियम को बीच सड़क पर आकर तोड़ने में लगे हुए हैं।'पिछले दिनों बलिया में हुई गोलीबारी की घटना के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के दामन में लगे दाग को विपक्ष जोर-शोर से उछाल रहा है'।

इस बीच भाजपा विधायक ने कानून व्यवस्था को सरेआम नीलाम कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक और दाग लगा दिया।यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में भाजपा विधायक ने कानून व्यवस्था की ऐसी धज्जियां उड़ाई की इसकी कीचड़ भाजपा सरकार पर लग गई।

वहीं दूसरी ओर बलिया गोलीकांड में मुख्य आरोपी के समर्थन में आए बीजेपी विधायक ने भी योगी सरकार के लिए सिरदर्द कर दिया। 

पहले बात होगी लखीमपुर खीरी की।लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी कोतवाली पुलिस ने शनिवार को एक बीजेपी कार्यकर्ता को छेड़खानी के आरोप में गिरफ्तार किया था।इस बात की सूचना जैसे ही भारतीय जनता पार्टी के विधायक लोकेंद्र बहादुर को मिली तो वह सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ कोतवाली जा पहुंचे। इसके बाद उन्होंनेे थाना परिसर में जमकर बवाल मचा दिया। 

इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी की और छेड़खानी के आरोपी को कोतवाली से छुड़ाकर ले गए। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। भाजपा विधायक की इस हरकत के बाद प्रदेश की योगी सरकार एक बार फिर कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष के निशाने पर है।

बलिया गोलीकांड के आरोपी के समर्थन में आए बीजेपी विधायक ने योगी की बढ़ाई मुश्किलें---
पिछले दिनों बलिया जिले में एक भरी पंचायत में धीरेंद्र सिंह ने अपने साथियों के साथ ताबड़तोड़ गोलीबारी कर एक ग्रामीण की हत्या कर दी थी।जिसके बाद प्रदेश में सियासत गर्म है ।इस घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी की फजीहत हुई'।इस घटना के मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह के समर्थन में भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह खुलेआम समर्थन में आ गए।

सुरेंद्र सिंह पर आरोप है कि उन्होंने बलिया कांड के आरोपी धीरेंद्र सिंह के पक्ष में परिवार के साथ जाकर पुलिस से मुलाकात की थी। इसके बाद बीजेपी पर खुलकर आरोपी का साथ देने का आरोप भी लग रहा है। शनिवार को विधायक सुरेंद्र सिंह रेवती थाना में दूसरे पक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पहुंचे थे। उसी दौरान भाजपा विधायक ने कहा था कि अगर दूसरे पक्ष के खिलाफ केस दर्ज नहीं होगा तो धरने पर बैठ जाऊंगा। 'यही नहीं बीच बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह बेटे ने भी योगी सरकार को चेतावनी दे दी थी'। 

अब बीजेपी विधायक को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ तलब किया है । एक ओर जहां योगी प्रदेश में कानून व्यवस्था पर लगातार लंबी-चौड़ी बातें करते हैं तो दूसरी ओर उनके विधायक ही कानून का खिलवाड़ करने में लगे हुए हैं ।

उत्तर प्रदेश सरकार का राहुल-प्रियंका और सपा ने फिर किया घेराव----
प्रदेश सरकार इन दिनों बेटियों की सुरक्षा को लेकर निशाने पर है।ऐसे में होने वाली एक-एक घटना इन दिनों बड़ा राजनीतिक मुद्दा भी बन रही है। भाजपा विधायक के इस हरकत के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने एक बार फिर से योगी सरकार पर निशाना साधा।

राहुल गांधी ने कहा कि योगी सरकार बेटी बचाओ नहीं बल्कि अपराधी बचाओ अभियान पर काम कर रहे हैं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर पूछा है कि सरकार बेटियों को बचा रही है या अपराधियों को'।प्रियंका गांधी ने इस बारे में ट्वीट भी किया।

प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर बीजेपी नेता की गुंडई की खबर साझा करते हुए लिखा,क्या यूपी के सीएम बताएंगे कि यह किस ‘मिशन’ के तहत हो रहा है,बेटी बचाओ या अपराधी बचाओ।प्रियंका गांधी ने बीजेपी विधायक की इस गुंडागर्दी पर योगी सरकार से सवाल किया।इस मामले में प्रिंयका और राहुल के अलावा समाजवादी पार्टी ने भी योगी सरकार पर निशाना साधा है।

समाजवादी पार्टी की ओर से किए गए एक ट्वीट में लिखा है कि भाजपा सरकार का साथ, बेटी के गुनहगारों के साथ।समाजवादी पार्टी की ओर से किए गए ट्वीट कर मांग कि है कि इस केस में बीजेपी विधायक नगर अध्यक्ष और आरोपी कार्यकर्ता पर कड़ी कार्रवाई की जाय।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.