चंबा:सफाई कर्मी महिलाओं ने मनचले दुकानकारों से तंग आ कर लगाई न्याय की गुहार 

चंबा:सफाई कर्मी महिलाओं ने मनचले दुकानकारों से तंग आ कर लगाई न्याय की गुहार 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 17 Oct, 2020 05:46 pm प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,एम एम डैनियल(सह-संपादक)/दीपक महाजन 

सफाई कर्मी महिलाओं के साथ मुख्य बाजार के कुछ व्यापारी सफाई शुल्क देने की बजाय अभद्र व्यवहार 
स्वच्छता अभियान के तहत गत वर्षों में कई जागरूकता कार्यक्रमों के आयोजन के पश्चात भी चंबा जिला के कई लोगों की सोच में जागरूकता का अलख आज दिन तक नहीं जाग पाया है। हालांकि हर कोई अपने आस-पास स्थलों में स्वच्छ वातारण तो ढ़ूंढ़ते है लेकिन उसी सफाई व्यवस्था को कायम रखने के लिए नाममात्र शुल्क देना लोग गवारा नहीं समझ रहे है। ऐसा ही कुछ वाकया हिमाचल जनादेश के समक्ष ठेके पर तैनात सफाई कर्मियों ने उठाया है। जिसमें उन्होंने चंबा मुख्यालय के कुछ दुकानदारों पर दुकानों से कूड़ा एकत्रित करने पर उसका निर्धारित प्रति माह सफाई न देने का जहां आरोप लगाया है। 

वहीं दुकानदार पर संगीन आरोप लगाने से भी गुरेज न करते हुए उन्होंने दुकानदारों द्वारा अभद्र व्यवहार करने तक आरोप लगाया है। लेकिन इस दिशा में नगर परिषद चंबा के कई कर्मियों के ध्यान में विषय होने के बावजूद भी रसूकदार दुकानदारों पर कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है। जबकि सफाई कर्मी महिलाओं को अपनी ड्यूटी के साथ-साथ इस दिशा में यातनाएं झेलने पर विवश होना पड़ रहा है। 

गौर हो कि उक्त इल्जामों को लेकर मुख्य बाजार सफाई सुपरवाइजर लता ने बताया कि वह व उनकी सहयोगी सफाई कर्मियों को सांयकाल से लेकर देर-रात तक मुख्य बाजार की सफाई व्यवस्था एवं दुकान-टू-दुकान कूड़ा एकत्रित करने के लिए तैनात किया है। वहीं उन्हें नगर परिषद चंबा द्वारा दुकानदारों से प्रतिमाह सफाई शुल्क लेने के लिए रसीद बुक निर्धारित शुल्क  सहित जारी की है। जिसमें मुख्य बाजार के कई दुकानदार नप और प्रशासन द्वारा निर्धारित शुल्क जहां देने से इंकार कर रहे है। 

वहीं शुल्क मांगने पर वह अभद्र व्यवहार करने से भी संकोच नहीं करते है। जिसमें वह यह तक नहीं देखते उनके समक्ष महिला कर्मी या पुरूष कर्मी मौजूद है। जबकि शुल्क न देने की सूरत में वह यह तक कह रहे है कि किसी भी अधिकारी समक्ष वह उनकी शिकायत कर दें वह नहीं डरते है। जबकि इसी शुल्क से सफाई कर्मियों की अजीविका चलाने का प्रावधान किया है। मगर जब ऐसी परिस्थितियां हो तो कैसे आय अर्जित हो पाएगी।  

क्या कहते है सफाई ठेकेदार :- 
वहीं मुख्य बाजार की सफाई का दायित्व निर्वाह कर रहे ठेकेदार लोकेंद्र कुमार से इस दिशा बात की तो उन्होंने पुष्टि करते हुए कहा कि इसमें कोई दो राह नहीं है कि मुख्य बाजार के कई दुकानदार प्रति माह तय सफाई शुल्क नहीं दे रहे है। उन्होंने कहा कि यह शुल्क दुकानदारों को वर्गों में बांट निर्धारित किया है। जिसमें जिस प्रकार का व्यवसाय है वैसे नाममात्र मासिक शुल्क निर्धारित है। जिसमें कोविड-19 के चलते कई व्यवसायियों को शुल्क में कुछ राहत भी दी है। 

क्या कहते है नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी :-
नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी (ईओ) चंबा रौशन लाल का कहना है कि इस दिशा में अभी तक उनके समक्ष कोई लिखित शिकायत नहीं आई है। यदि मुख्य बाजार के दुकानदार सफाई शुल्क नहीं दे रहे या फिर सफाई कर्मियों से अभद्र व्यवहार कर रहे है तो शिकायत प्राप्त होते ही विभागीय व कानूनी कार्रवाई दोषी दुकानदारों के खिलाफ अमल में लाई जाएगी।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.