मैक्लोडगंज:तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा के दर्शन को अभी और करना होगा इंतजार,कोविड-19 के चलते मिलने पर है पाबन्दी 

मैक्लोडगंज:तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा के दर्शन को अभी और करना होगा इंतजार,कोविड-19 के चलते मिलने पर है पाबन्दी 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 16 Oct, 2020 04:35 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल देश और दुनिया धर्म-संस्कृति लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा

हिमाचल जनादेश,मैक्लोडगंज(विक्रम सिंह)


तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा के दर्शन को अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा। इससे पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि दलाई लामा 18 अक्तूबर से अपने मैक्लोडगंज स्थित निवास स्थान पर बने आंगतुक कक्ष तक आ सकते हैं लेकिन डॉक्टरों की सलाह पर इसे स्थगित कर दिया गया है। तिब्बती धर्मगुरू मार्च माह के शुरूआत से ही मैक्लोडगंज स्थित अपने अस्थायी निवास स्थान पर हैं।

कोविड-19 के प्रकोप के बीच फरवरी माह में ही दलाई लामा से मिलने पर पाबंदी लगनी शुरू हो गई थी। उस वक्त से लेकर दलाई लामा मैक्लोडगंज में ही हैं। उनसे मिलने की किसी को अनुमति नहीं है। उनकी सेवा में 18 लोग तैनात हैं।वह भी वहीं पर रहते हैं।

एक नजर इधर भी-जन्मदिन विशेष:खूबसूरती-अदाकारी के बल पर हेमा मालिनी को प्रशंसकों और बॉलीवुड ने बनाया 'ड्रीमगर्ल'

  इसके अलावा ना ही तो वहां कोई आ सकता है ना ही बाहर जा सकता है। सात माह बीत जाने के बाद इस बात की तैयारी होने लगी थी कि 85 वर्षीय दलाई लामा को अपने ही परिसर में हल्की-फुल्की मूवमेंट शुरू हो जाए, इसके लिए गुरुवार यानी 15 अक्तूबर को मैक्लोडगंज में ही डॉक्टरों के एक पैनल के साथ दलाई लामा के निजी ऑफिस के अधिकारियों की लंबी वार्ता हुई। उसी दौरान ये तय हुआ है कि दलाई लामा की उम्र को ध्यान में रखते हुए व मैक्लोडगंज में हाल ही में आए नए संक्रमित मामलों की वजह से अभी इस निर्णय को लंबित रखा जाए। इसके लिए तय हुआ है कि 31 अक्तूबर को एक बार फिर से सभी बैठकर पहले चर्चा करेंगे, उसके बाद ही कोई भी निर्णय लेंगे।

हिमाचल जनादेश,मैक्लोडगंज(विक्रम सिंह)

मैक्लोडगंज:तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा के दर्शन को अभी और करना होगा इंतजार,कोविड-19 के चलते मिलने पर है पाबन्दी 
तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा के दर्शन को अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा। इससे पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि दलाई लामा 18 अक्तूबर से अपने मैक्लोडगंज स्थित निवास स्थान पर बने आंगतुक कक्ष तक आ सकते हैं लेकिन डॉक्टरों की सलाह पर इसे स्थगित कर दिया गया है। तिब्बती धर्मगुरू मार्च माह के शुरूआत से ही मैक्लोडगंज स्थित अपने अस्थायी निवास स्थान पर हैं। कोविड-19 के प्रकोप के बीच फरवरी माह में ही दलाई लामा से मिलने पर पाबंदी लगनी शुरू हो गई थी। उस वक्त से लेकर दलाई लामा मैक्लोडगंज में ही हैं। उनसे मिलने की किसी को अनुमति नहीं है। उनकी सेवा में 18 लोग तैनात हैं।वह भी वहीं पर रहते हैं।

  इसके अलावा ना ही तो वहां कोई आ सकता है ना ही बाहर जा सकता है। सात माह बीत जाने के बाद इस बात की तैयारी होने लगी थी कि 85 वर्षीय दलाई लामा को अपने ही परिसर में हल्की-फुल्की मूवमेंट शुरू हो जाए, इसके लिए गुरुवार यानी 15 अक्तूबर को मैक्लोडगंज में ही डॉक्टरों के एक पैनल के साथ दलाई लामा के निजी ऑफिस के अधिकारियों की लंबी वार्ता हुई। उसी दौरान ये तय हुआ है कि दलाई लामा की उम्र को ध्यान में रखते हुए व मैक्लोडगंज में हाल ही में आए नए संक्रमित मामलों की वजह से अभी इस निर्णय को लंबित रखा जाए। इसके लिए तय हुआ है कि 31 अक्तूबर को एक बार फिर से सभी बैठकर पहले चर्चा करेंगे, उसके बाद ही कोई भी निर्णय लेंगे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.