165 साल बाद आया संयोग, पितृ पक्ष के एक महीने बाद शुरू होंगे नवरात्र

165 साल बाद आया संयोग, पितृ पक्ष के एक महीने बाद शुरू होंगे नवरात्र

Piyush 17 Sep, 2020 05:43 pm प्रादेशिक समाचार देश और दुनिया धर्म-संस्कृति लाइफस्टाइल सम्पादकीय ताज़ा खबर स्लाइडर मनोरंजन आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश,मैक्लोडगंज(करतार चंद) 

इस बार श्राद्ध पक्ष के समाप्त होते ही अधिकमास लग रहा है जो 16 अक्टूबर तक चलेंगे। नवरात्र इस बार 17 अक्तूबर से शुरू हो रहे हैं।अधिकमास लगने से इस बार नवरात्र और पितृपक्ष के बीच एक महीने का अंतर रहेगा।

आश्विन मास में मलमास लगना और एक महीने के अंतर पर दुर्गा पूजा का आरंभ होना, ये ऐसा संयोग है जो करीब 165 साल बाद एक बार फिर बन रहा है।25 नवंबर को देवउठनी एकादशी होगी, जिसके साथ ही चातुर्मास समाप्त होंगे। इसके बाद ही विवाह, मुंडन आदि मंगल कार्य शुरू होंगे।

एक नजर इधर भी- सारथी के रूप में भाजपा से राजनीति शुरू करने वाले मोदी विश्व में ताकतवर नेता के रूप में शुमार
लीप वर्ष होने के कारण ऐसा हो रहा है। इसलिए इस बार चातुर्मास जो हमेशा चार महीने का होता है, इस बार पांच महीने का होगा।

ज्योतिष की मानें तो 160 साल बाद लीप ईयर और अधिकमास दोनों ही एक साल में हो रहे हैं। चातुर्मास लगने से विवाह, मुंडन, कर्ण छेदन जैसे मांगलिक कार्य नहीं होंगे।

इस काल में पूजन पाठ, व्रत उपवास और साधना का विशेष महत्व होता है। इस दौरान देव सो जाते हैं। देवउठनी एकादशी के बाद ही देव जागृत होते हैं।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.