चंबा:जल जीवन मिशन फेज- 3 के तहत घरों में लगेंगे 23177 नल, 24 करोड़ 24 लाख की राशि होगी खर्च

चंबा:जल जीवन मिशन फेज- 3 के तहत घरों में लगेंगे 23177 नल, 24 करोड़ 24 लाख की राशि होगी खर्च

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 16 Jul, 2020 02:54 am प्रादेशिक समाचार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा स्वस्थ जीवन

हिमाचल जनादेश,चंबा(कमल राजपूत)

ग्राम स्तरीय जल एवं स्वच्छता समितियां करेंगी जल प्रबंधन और स्कीमों की देखरेख 

जल जीवन मिशन फेज- 3 के तहत चंबा जिला में 108 पेयजल स्कीमों को तैयार किया जाएगा जिन पर 24 करोड़ 24 लाख रूपए की राशि खर्च होगी। उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला स्तरीय जल एवं स्वच्छता मिशन समिति विवेक भाटिया ने आज जल जीवन मिशन फेज-3 के प्रपोजल की मंजूरी के लिए चंबा में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए बताया कि  फेज- 3 के तहत चंबा मंडल में 21 स्कीमों पर 4 करोड़ 37लाख , भरमौर में 32 स्कीमों पर 7 करोड़ 40 लाख , सलूणी में 3 स्कीमों पर 7 करोड़ 47 लाख , तीसा में 4 स्कीमों पर 1करोड़ 14 लाख रूपए  जबकि डलहौजी मंडल में 48 स्कीमें पर 3 करोड़ 86 लाख की राशि खर्च की जाएगी। 

उन्होंने बताया कि इन सभी 108 स्कीमों के पूरा हो जाने के बाद जिले के 1092 गांवों के पेयजल उपभोक्ताओं को पेयजल की सुविधा प्राप्त होगी। इनमें चंबा मंडल के 75, भरमौर के 709, सलूणी के 51, तीसा के 92 जबकि डलहौजी मंडल के 165 गावों शामिल हैं और इनमें कुल 23177 नल लगेंगे। उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की मंजूरी के बाद अब इस प्रपोजल को राज्य स्तरीय समिति को भेजा जाएगा।

उपायुक्त ने बताया कि जल जीवन मिशन के फेज-1 और फेज-2 के तहत जिले में कुल 129 स्कीमें  तैयार की जा रही हैं।उपायुक्त ने कहा कि जिला की सभी 283 पंचायतों में गठित की गई ग्राम स्तरीय जल एवं स्वच्छता समितियों को प्रभावी तौर पर कार्यशील बनाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि जल जीवन मिशन के तहत निर्मित होने वाली स्कीमों के जल प्रबंधन और रखरखाव की जिम्मेदारी भी संबंधित समितियों की रहेगी। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इन सभी समितियों के पदाधिकारियों की जागरूकता के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन के बाद जमीनी स्तर पर बदलाव नजर आना चाहिए तभी इन सभी स्कीमों का अपेक्षित लाभ लोगों को निर्बाध और समुचित तरीके से मिलना सुनिश्चित हो सकेगा।

उपायुक्त ने कहा कि जल जीवन मिशन में तैयार होने वाली कुछ स्कीमों का वे स्वयं भी निरिक्षण करेंगे। उन्होंने फेज- 1 और फेज - 2 में निर्मित हो चुकी स्कीमों का ब्योरा भी लिया। पेयजल किल्लत को लेकर उन्होंने कहा कि विभाग ऐसी पंचायतों का अपडेटेड डाटा रखे ताकि लगातार सूखे की स्थिति में लोगों को तुरंत पेयजल की सहूलियत मुहैया की जा सके।

बैठक में अधीक्षण अभियंता जल शक्ति विभाग रोहित दुबे के अलावा अधिशासी अभियंता चंबा एवं सदस्य सचिव जिला स्तरीय जल एवं स्वच्छता मिशन समिति दिनेश कपूर, अधिशासी अभियंता सलूणी मंडल विकास बक्शी, अधिशासी अभियंता डलहौजी मंडल राकेश ठाकुर और अधिशासी अभियंता तीसा मंडल हरि भारद्वाज भी मौजूद रहे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.