मंण्डी:मनाही के बाबजूद भी प्रशासन को दिखा रहे ठेंगा,श्री कामरु नाग मंदिर में लग रहा श्रद्धालुओं का जमावड़ा

मंण्डी:मनाही के बाबजूद भी प्रशासन को दिखा रहे ठेंगा,श्री कामरु नाग मंदिर में लग रहा श्रद्धालुओं का जमावड़ा

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 29 Jun, 2020 02:39 pm प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार धर्म-संस्कृति लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर मण्डी

हिमाचल जनादेश ,निहरी रोहांडा(देवेन्द्र चौहान)
 

वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर सरकार ने जहाँ भीड़ भाड़ वाली जगह को लेकर प्रशासन को आदेश जारी किए हैं कि कहीं भी अनावश्यक रूप से भीड़ इकट्ठी न होने दे और इसी आदेशानुसार पर पूरे भारत मे इस समय मंदिरो के कपाट पूरे तरीके से बंद है।अगर कोई भी इन आदेशों की अवहेलना करने की कोशिश करता है तो इस स्थिति में जुर्माने के साथ साथ सजा का भी प्रावधान है।परन्तु इतनी सख्ती के बावजूद भी कई लोगों को इसकी कोई परवाह नहीं है वो बेख़ौफ़ हो सरेआम कानून की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं।

ऐसा ही मामला मंडल सुन्दरनगर की रोहांडा पंचायत में देखने को मिल रहा है, अभी हाल ही में बीएसएल थाना कॉलोनी प्रभारी प्रकाश चंद मिश्रा की अध्यक्षता में बैठक की गई थी जिसमे पंचायत प्रतिनिधि स्थानीय व्यापार मंडल और पुलिस चौकी निहरी ने भाग लिया था। मंडी जनपद के आराध्य देव श्री कामरु नाग के मंदिर को जाने वाले लोगों को सख्त चेतावनी दी थी कि कोई भी आदमी इस कोरोना काल में मंदिर की ओर न जाएं,अगर कोई इन आदेशों की अवहेलना करता है तो उस पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।कुछ दिन तक तो लोंगो ने पुलिस के इन आदेशों का पालन किया।अब हालात बद से बदतर हो रहे हैं। 

एक नजर इधर भी- चम्बा एचआरटीसी घोटाला मामला:रिकार्ड की छानबीन में जुटी तीन टीमें, पढ़ें पूरा मामला

प्रधान ग्राम पंचायत रोहांडा प्रकाश चंद के अनुसार मंदिर के कपाट अभी तक पूरी तरह से बंद है देव कमेटी ने जगह जगह पर मंदिर के बंद होने के साइन बोर्ड भी लगाए हैं बावजूद इसके भी लोगों का आना जाना लगा हुआ है,जब हम लोगों को मंदिर न जाने के लिए कहते है तो वो लड़ाई झगड़े पर उतर आते है। कई आदमी तो ये भी कहते है कि आप कौन होते है रोकने वाले हमारे पास मंदिर जाने की परमिशन है,मैंने स्वंय मंदिर जाकर देखा कि वहाँ पर लोग बिना किसी बेरोक टोक के आ रहे हैं। 

 जब मैंने उनको पूछा तो उन्होंने कहा कि हम शाला होते हुए आये है और हमे वहाँ पर तैनात खाखी वाले  ने आने दिया।उन्होंने कहा कि हमे सरकार और प्रशासन स्थिति को साफ करे कि क्या लोंगो को मंदिर में आने दिया जाए या नहीं, अगर सही मायने में लोंगो का मंदिर में प्रवेश वर्जित है तो मंदिर के रास्तों को पूरे तरीके से सील कर दिया जाए,नही तो पंचायत को भी इन आदेशों से आदेशमुक्त किया जाए।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.