कोरोना वायरस की वैक्सीन के परीक्षण के लिए अपने शरीर को दान करने को तैयार डलहौजी का पंकज, सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार से किया आग्रह 

कोरोना वायरस की वैक्सीन के परीक्षण के लिए अपने शरीर को दान करने को तैयार डलहौजी का पंकज, सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार से किया आग्रह 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 29 Mar, 2020 01:31 pm प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार देश और दुनिया लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा स्वस्थ जीवन

हिमाचल जनादेश,बनीखेत(सोनी ठाकुर)

 

आज  "कोरोना वायरस"जैसी भयानक महामारी लगभग पूरी दुनिया में फैली हुई है जिसने कई परिवारों को तबाह कर दिया है इसलिए साथियो मैं "कोरोना वायरस" के लिए बनाई जाने वाली दवाई के प्रशिक्षण (प्रैक्टिकल)के लिए अपना पूरा शरीर देने की घोषणा करता हूं .. ये दावा किया है डलहौजी के गाँव बासी पंचायत बलेरा के युवक पंकज पलभर ने। 

गाँव बासी पंचायत बलेरा तहसील डल्हौजी जिला चम्बा के रहने वाले पंकज पलभर ने हाल ही में राजकीय महाविद्यालय चुवाड़ी  से राजनैतिक विज्ञान में स्नातक की पढाई पूरी की है और अब शिमला विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर के दाखिले के लिए तैयारी कर रहा है। पंकज की माता माता का नाम कौशल्या देवी जो गृहणी हैं और पिता प्रकाश चन्द किसान हैं इसके अलावा 2 भाई व एक छोटी बहन भी है। 

सूबे के मुख्यमंन्त्री से आग्रह कर पंकज पलभर ने कहा कि  "मानवता के  दुश्मन "कोरोना वायरस" जैसी आपदा से निपटने के लिए मेरे शरीर का इस्तेमाल किया जाए।मैं किसी भी दवाब, तनाव में आकर यह निर्णय नहीँ ले रहा बल्कि मैं मानवना के लिए अपना सब कुछ देने के लिए तैयार हूँ अगर इंसान विरोधी इस कोरोना से निपटने के लिए मेरा शरीर का कतरा कतरा काम आ जाये तो मैं खुद को बड़ा खुशनसीब समझूंगा।

एक नजर इधर भी-बनीखेत:दिल्ली से पैदल ही चलकर बनीखेत डलहौजी के तीन युवक, 5 दिनों से चल रहे थे पैदल

उन्होंने कहा कि यह शरीर नश्वर है जो एक न एक दिन नष्ट हो जायेगा जिसे वैसे भी मैं  मैं दान के रूप में देने की ठान चुका हूँ  तो क्यों न अभी ही मेरे शरीर को इस "कोरोना वायरस"की दवाई बनाने के लिए प्रशिक्षण के रूप में ले लिया जाए। अगर प्रशिक्षण सफल हुआ तो मैं खुश अगर सफल नहीँ भी हुआ तो मुझे अपने जीवन का कोई भी मलाल नहीँ ,मुझे यह नहीँ मालूम कि मुझे नया जीवन मिलेगा या नहीँ लेकिन मुझे इतनी ख़ुशी जरूर होगी मैंने अपने इस जीवन को "कोरोना वायरस" से लड़ने के लिए दान के रूप में दिया है।

हालाँकि सरकार व मेडिकल साइंस को पंकज के शरीर वैक्सीन के परीक्षण के लिए आवश्यकता पड़ेगी या नहीं ये अलग बात है लेकिन इस महामारी से निपटने के लिए पंकज की इस दिलेरी के चर्चे लोगों की जुबान पर खूब हैं। 
 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.