काँगड़ा :जिला के 17 सरकारी विद्यालयों को मॉडल स्कूल के रूप में करेंगे विकसित-डीसी

काँगड़ा :जिला के 17 सरकारी विद्यालयों को मॉडल स्कूल के रूप में करेंगे विकसित-डीसी

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 18 Jan, 2020 02:54 pm प्रादेशिक समाचार लाइफस्टाइल ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा शिक्षा व करियर आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,काँगड़ा (ब्यूरो )

कांगड़ा जिला के 17 सरकारी स्कूलों में बेहतर शैक्षणिक सुविधाओं के साथ माडल स्कूल के रूप में विकसित करने के लिए आधारशिला प्रोजेक्ट आरंभ होगा। इस बाबत आरईसी फाउंडेशन ने जिला प्रशासन के साथ एमओयू भी साइन किया। इस प्रोजेक्ट के तहत आरईसी फाउंडेशन की ओर से तीन करोड़ आठ लाख की राशि व्यय की जाएगी।यह जानकारी देते हुए उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि प्रत्येक शिक्षा खंड में एक-एक प्राइमरी स्कूल चयनित किया जाएगा जबकि धर्मशाला में एक हाई स्कूल तथा एक सीनियर सेकेंडरी स्कूल चयनित किया जाएगा।

चयनित प्राइमरी स्कूलों मे संबंधित उपमंडलाधिकारी प्रत्येक सप्ताह में कम से कम तीन घंटे बच्चों के शैक्षणिक सुधार के लिए समय देंगे तथा इन स्कूलों में विद्यार्थियों का मार्गदर्शन भी करेंगे इसके साथ ही जनसहभागिता भी सुनिश्चित की जाएगी। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि धर्मशाला खंड में चयनित हाई स्कूल तथा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में वे स्वयं शैक्षणिक सुधार की मॉनिटरिंग करेंगे।

एक नजर इधर भी -ब्रेकिंग न्यूज़ :जिला काँगड़ा में फर्जी तरीके से भर्ती हुए नौ पुलिस कर्मचारियों पर एफआईआर-विमुक्त रंजन

उन्होंने बताया कि इन स्कूलों के साथ समाज के शिक्षाविदों तथा बुद्विजीवी लोगों तथा विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों को भी जोड़ा जाएगा।उन्होंने कहा कि आधारशिला प्रोजेक्ट में चयनित स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम, भवन की मरम्मत, लाइब्रेरी, प्रयोगशाला तथा मैथ लैब के निर्माण का भी प्रावधान किया जाएगा ताकि बच्चों को बेहतर शैक्षणिक वातावरण मिल सके। उन्होंने कहा कि चयनित स्कूलों के शिक्षकों के प्रशिक्षण कार्यशालाएं भी आयोजित की जाएंगी जिसमें टीचिंग की नई तकनीक के बारे में जानकारी दी जाएगी।

एमओयू पर आरईसी फांउडेशन के सीईओ डा एसएन श्रीनिवास तथा उपायुक्त राकेश प्रजापति ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर निदेशक तकनीकी शिक्षा एसके गुप्ता तथा आरईसी के ईडी फाईनेंस अजय चौधरी भी उपस्थित थे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.