मंडी :धर्मपुर में मनरेगा मज़दूरों को श्रमिक बोर्ड शिमला से मिली करोड़ो की सहायता-भूपेंद्र सिंह

मंडी :धर्मपुर में मनरेगा मज़दूरों को श्रमिक बोर्ड शिमला से मिली करोड़ो की सहायता-भूपेंद्र सिंह

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 18 Jan, 2020 01:59 pm प्रादेशिक समाचार लाइफस्टाइल स्लाइडर स्वस्थ जीवन शिक्षा व करियर आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,सरकाघाट (रितेश चौहान )

धर्मपुर विकास खण्ड में गत वर्ष में राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड शिमला से 180 मनरेगा मज़दूरों को बच्चों के विवाह हेतू 63 लाख रुपये की सहायता प्राप्त हुई है।जबकि अठारह सौ मज़दूरों को बच्चों की पढ़ाई के लिए एक करोड़ अस्सी लाख रुपये की सहायता मिली है।ये जानकारी मज़दूर संगठन सीटू के ज़िला अध्यक्ष व ज़िला पार्षद भूपेंद्र सिंह ने दी है।

उन्होंने बताया कि मनरेगा मज़दूर यूनियन धर्मपुर विकास खण्ड की 35 पंचायतों मनरेगा मज़दूरों को बोर्ड के साथ पंजीकृत करने का काम पिछले पांच साल से कर रही है और अभी तक पांच हजार से ज्यादा मज़दूरों को बोर्ड का सदस्य बनाया जा चुका है और इन पांच वर्षों में दस करोड़ रुपये की सहायता मज़दूरों को मिल चुकी है।

जिसमें से गत एक वर्ष  में ही 180 मज़दूरों को बच्चों की विवाह शादी के लिए 35 हज़ार की दर से 63 लाख रुपये प्राप्त हुए हैं।बच्चों की पढ़ाई के लिए कक्षा के अनुसार तीन से 25 हज़ार रुपये की छात्रवृति के रूप में एक करोड़ अस्सी लाख रु मिले हैं जो मंडी ज़िला में सबसे अधिक है।भूपेंद्र सिंह ने ये भी बताया कि अब इस वर्ष से लड़कियों की पढ़ाई के लिए मिलने वाली छात्रवृति की राशी में बोर्ड ने बढ़ोतरी की गई है जिसकी अधिसूचना 6 जनवरी को जारी हो गई है। जिसके तहत अब आठवीं कक्षा तक तीन के बजाए सात हज़ार रुपये दस जमा दो तक छह की जगह दस हजार रुपये ग्रेड्यूशन के लिए दस हजार की जगह पन्द्रह एम ए के बीस हजार तथा व्यवसायीक डिग्री के लिए पैंतीस हज़ार रुपये सालाना मिलेंगे।इसके अलावा मैरिट में आने वाले बच्चों को 25 से 50 हज़ार रुपये मिलेंगे और राज्य व रास्ट्रीय स्तर की खेलों में भाग लेने वाले बच्चों तथा दिव्यागों को अतिरिक्त प्रोत्साहन राशी मिलेगी।

एक नजर इधर भी -ब्रेकिंग न्यूज़ :जिला काँगड़ा में फर्जी तरीके से भर्ती हुए नौ पुलिस कर्मचारियों पर एफआईआर-विमुक्त रंजन

व्यवसायिक कोर्स करने वाले विद्यार्थियो को एक लाख रुपये फीस इत्यादि के लिए अलग से मिलेंगे।बोर्ड से 60 वर्ष के बाद मिलने वाली मासिक पेंशन पांच सौ से बढ़ाकर एक हज़ार रुपये कर दी गई है। गम्भीर किस्म की बीमारियों के ईलाज के लिए पांच लाख रुपये तक कि सहायता का प्रावधान किया गया है।महिला मज़दूरों को कंबल, वाटर फिल्टर,हाट केस, टिफ़िन सेट और  डिनर सेट भी दिए जाएंगे।पुरुष कामगारों को 6 हज़ार रु पितृत्व सहायता भी मिलेगी।विवाह व प्रसूता सहायता राशि पूर्व निर्धारित दरों पर 35 औऱ 25 हज़ार रु ही मिलेगी।

इसी प्रकार प्राकृतिक मृत्यु होने पर सहायता राशी एक से बढ़ाकर दो लाख तथा दुर्घटना के कारण होने वाली मौत पर दो के बजाए 4 लाख रुपये मिलेंगे।मनरेगा मज़दूर यूनियन खण्ड कमेटी के प्रधान कश्मीर सिंह ठाकुर महासचिव सूबेदार मोहनलाल करतार सिंह चौहान, कीर्णवाला, निर्मला देवी, चंपा देवी, राजकुमारी, निलमा, रजनी, आशा, अति देवी, सुंदर भक्ति, वीना देवी, कांता, निश्चला, लता, अनिता, सीता, रितु, अंजना, रानी, शोमा,शीला, सीमा, कमलेश, माया देवी इत्यादि ने सहायता राशि बढ़ाने के लिए बोर्ड का धन्यवाद किया है और विवाह शादी और प्रसूता सहायता राशी बढ़ाने की भी मांग की है जो सामान धमपुर में रखा है।उसे जल्दी वितरित करने की भी मांग की है।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.