बागवानों को बाहरी राज्यों से फल-पौध सामग्री नहीं खरीदने की सलाह, कहा पौधशाला रजिस्ट्रीकरण नियम-1973 के तहत है ये गैर कानूनी

बागवानों को बाहरी राज्यों से फल-पौध सामग्री नहीं खरीदने की सलाह, कहा पौधशाला रजिस्ट्रीकरण नियम-1973 के तहत है ये गैर कानूनी

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 26 Dec, 2019 09:18 pm प्रादेशिक समाचार सुनो सरकार विज्ञान व प्रौद्योगिकी ताज़ा खबर स्लाइडर

हिमाचल जनादेश,शिमला(ब्यूरो) 


प्रदेश के बागवानी विभाग ने सभी फल पौधशाला उत्पादकों एवं बागवानों से बाहरी राज्यों से फल-पौध सामग्री का अनाधिकृृत तरीके से आयात नहीं करने की सलाह दी है।

विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि यह देखने में आया है कि कुछ फल उत्पादक/पौधशाला उत्पादक प्रायः दूसरे देशों अथवा प्रदेशों से अनाधिकृृत तौर पर फल पौधे, मूलवृृंत एवं फल पौध सामग्री का आयात करते हैं।

यह हिमाचल प्रदेश फल पौधशाला रजिस्ट्रीकरण नियम-1973 के अनुसार गैर कानूनी है क्योंकि बाहर से आयात किए जाने वाले पौधों से जहां रोगों एवं कीटों के फैलने का अन्देशा रहता है वहीं फल उत्पादन पर भी कुप्रभाव पड़ता है।

एक नजर इधर भी-शिमला:एसजेपीएनएल की तकनीकी क्षमता में सुधार के लिए हाॅलैंड की कम्पनी के साथ एमओयू

विभाग ने फल पौधशाला उत्पादकों एवं बागवानों से बाहर से फल पौध सामग्री नहीं खरीदने का अनुरोध किया है अन्यथा विभाग हिमाचल प्रदेश फल पौधशाला पंजीकरण नियम-1973 के तहत उनके विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई अमल में लाएगा। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अनिल खाची, सचिव जीएडी आर.एन. बत्ता, शिमला नगर निगम के आयुक्त पंकज राय और एसजेपीएनएल के प्रबन्ध निदेशक धमेन्द्र गिल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस बैठक में उपिस्थत थे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.