हिमाचल जनादेश विशेष:सिल्ट के नुकसान को लेकर बीबीएमबी प्रबंधन उठा रहा पुख्ता इंतजाम:ई. डीके शर्मा, किया जाएगा 7 लाख पेड़ों का पौधरोपण

हिमाचल जनादेश विशेष:सिल्ट के नुकसान को लेकर बीबीएमबी प्रबंधन उठा रहा पुख्ता इंतजाम:ई. डीके शर्मा, किया जाएगा 7 लाख पेड़ों का पौधरोपण

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 12 Sep, 2019 04:11 pm प्रादेशिक समाचार क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार विज्ञान व प्रौद्योगिकी ताज़ा खबर स्लाइडर मण्डी स्वस्थ जीवन आधी दुनिया

 

हिमाचल जनादेश, मंडी(उमेश भारद्वाज)

 

हिमाचल प्रदेश में स्थापित बीएसएल प्रोजेक्ट से हो रही सिल्ट निकासी के कारण क्षेत्र में किसानों को हो रहे नुकसान को कम करने के लिए बीबीएमबी प्रबंधन पुख्ता इंतजाम उठाने जा रहा है। 

सिल्ट निकासी मामले पर बीबीएमबी चेयरमैन डीके शर्मा ने कहा कि बीबीएमबी प्रबंधन ने पिछले वर्षों के मुकाबले इस वर्ष सिल्ट कंट्रोल पर काफी हद तक कोशिश की है। उन्होंने कहा कि पंडोह डैम में सिल्ट को कंट्रोल किया गया है। इससे पंडोह डैम में सिल्ट की मात्रा में भी कमी आई है।

डीके शर्मा ने कहा कि हर वर्ष डैम की एक दिन फ्लशिंग की जाती है,लेकिन इस बार अधिक समय तक डैम फ्लशिंग की गई। उन्होंने कहा की सिल्ट को फ्लशिंग करने का कार्य मानसून सीजन में ही किया जाता है और  सिल्ट निकासी से किसानों को आ रही परेशानी जल्द ठीक होगी। 

 

उन्होंने कहा की बीबीएमबी द्वारा IIT रूड़की को सिल्ट का कमर्शियल उपयोग बताने के लिए कहा गया है, जिससे किसानों की बर्बाद हो रही हजारों बीघा उपजाऊ भूमि को बचाया जा सके। 

 

7 लाख पौधों का किया जा रहा पौधरोपण

डीके शर्मा ने कहा कि इसके लिए बीबीएमबी अलग-अलग तरीके से काम कर रही है। डीके शर्मा ने कहा सिल्ट कंट्रोल को लेकर बीबीएमबी प्रबंधन ने इस वर्ष हिमाचल प्रदेश में 7 लाख पौधे लगाने का निर्णय लिया है,जिसका काम जोरों पर है। उन्होंने कहा कि इसमें जनता का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है की पेड़-पौधे लगाने से सिल्ट की पैदावार में कमी आएगी। 

 

सिल्ट आउटलेट पाईपों की चैनिलाईजेशन से किया इंकार:

सिल्ट निकासी के लिए Drazor द्वारा सुकेती खड्ड में पाईपों के माध्यम से सिल्ट फैंकी जाती है। इसको लेकर इन पाईपों की चैनिलाईजेशन करने का भी रास्ता भी तलाशा जा रहा था। इन सब बातों पर विराम लगाते हुए बीबीएमबी चेयरमैन डीके शर्मा ने कहा कि सिल्ट को बाहर फैंकने वाली पाईपों की चैनिलाईजेशन की ओर बीबीएमबी प्रबंधन द्वारा कोई विचार नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सिल्ट कंट्रोल को लेकर बीबीएमबी प्रबंधन अलग-अलग तरीकों से कार्य प्रगतिशील है।

 

विधायक राकेश जंवाल भी उठा चुके हैं विस सत्र में मामला

बीएसएल प्रोजेक्ट सुंदरनगर से निकलने वाली सिल्ट से किसानों की कई बीघा भूमि उपजाऊ भूमि नष्ट होने को लेकर सुंदरनगर के विधायक राकेश जंवाल ने विधानसभा के मानसून सत्र में सवाल उठा चुके हैं।

एक नजर इधर भी-मंडी:दंपति सहित पूर्व सैनिक ने किया मरणोपरांत देहदान,क्षेत्र के लोगों से भी देहदान की अपील

वहीं इस मसले को लेकर हिमाचल प्रदेश लोक सेवा लेखा समिति के दौरे के दौरान भी जोरों शोरों से उठाया था और बीबीएमबी के अधिकारियों को इस मसले को लेकर आधुनिक तकनीक से सिल्ट का समाधान निकालने के निर्देश भी दिए थे।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.