भरमौर : प्यूहरा पंचायत में करोड़ों की सेब की फसल तबाह होने की कगार पर , विधायक ने नहीं ली सुध -भरमौरी 

भरमौर : प्यूहरा पंचायत में करोड़ों की सेब की फसल तबाह होने की कगार पर , विधायक ने नहीं ली सुध -भरमौरी 

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 26 Aug, 2019 06:30 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार विज्ञान व प्रौद्योगिकी ताज़ा खबर स्लाइडर चम्बा आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश ,मोनु राष्ट्रवादी 

ग्राम पंचायत प्यूहरा में करोड़ों की  फसल तबाह होने की कगार पर है लेकिन भरमौर के विधायक इस सब से बेपरवाह शिमला में मस्त हैं।

ये बात पूर्व वन एवं मत्स्य मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी ने हिमाचल जनादेश से  फोन के माध्यम से कही।  उन्होंने बताया कि पिछले कल उन्होंने  प्यूहरा  क्षेत्र में एक कार्यक्रम के दौरान दौरा किया तो उन्हें इस बात का पता चला कि प्यूहरा पंचायत के गांव कुठेड़ ,मेहडी ,मरौर और गियूंरा को जोड़ने वाली सड़क पिछले एक साल से बंद पड़ी है।

उन्होंने  कहा स्थानीय लोगों ने उन्हें बताया कि विषय को लेकर कई बार वे विधायक व विभाग से मिल चुके हैं लेकिन सिर्फ निराशा ही हाथ लगी। उन्होंने कहा कि इस सड़क मार्ग के अंतर्गत आने वाले ये गांव करीब 3 करोड़ की सालाना सेब का उत्पादन करते हैं जिसमें अकेले मरौर गांव से 2 करोड़ की फसल का उत्पादन होता है।

उन्होंने बताया  कि इन गावों को जोड़ने वाली सड़क कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त है जिस कारण पिछले एक वर्ष से इस क्षेत्र के लोग सड़क सुविधा से विमुख हैं। भरमौरी ने कहा कि इस क्षेत्र के लोगों की आय का मुख्य साधन ये सेब ही हैं लेकिन विधायक की नाकामी के चलते आज ये लोग अपनी किस्मत पर रो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष इस क्षेत्र में 100  से भी अधिक ट्रक सेब की पैदावार हुई है जिसमें से अब तक 3 गाड़ियों से अधिक सेब मंडियों तक नहीं पहुँच पाया है। अगर यही स्थिति रही तो बागवानों की सारी फसल घर में सड़ जाएगी। 


उन्होंने याद दिलाते हुए कहा कि इन गांवों को जोड़ने वाली इस सड़क को  कार्यकाल में बनवाया था लेकिन अफ़सोस वर्तमान सरकार और उनके नुमाइंदे इस सड़क को पक्का करना तो दूर इस दरुस्त तक नहीं कर पाए हैं जिसका खामियाजा आज बागवानों को भुगतना पड़  रहा है।  

एक नजर इधर भी -चम्बा : अब तक नहीं मिला विधवा को न्याय,नवंबर 2018 में आगजनी में स्वाह हुआ था घर,पढ़ें पूरी खबर.....

उन्होंने वर्तमान विधायक को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जनता ने  जियालाल के रूप में एक निक्क्मे विधायक को पाया है जिसका आज जनता अफ़सोस कर रही है। उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि इस विषय को लेकर वे जल्द ही उपायुक्त चम्बा से मिलेंगे ताकि जिला राहत राशि से धन मुहैया करवाया जा सके। 

क्या कहते हैं प्यूहरा पंचायत के प्रधान 
जब इस विषय को लेकर ग्राम पंचायत प्यूहरा  के प्रधान देश राज शर्मा से बात हुई तो उन्होंने कहा कि वे बारम्बार इस सड़क को दरुस्त करने का  आग्रह विधायक व विभाग से कर चुके हैं लेकिन फिलहाल कोई भी धन राशि इस सड़क को दरुस्त करने को नहीं मिल पायी है।  जिससे हार कर अब बागवानों के सहयोग से धन  इकठा कर सड़क को ठीक करवाया जा  रहा है। 

 

इस सड़क निर्माण के लिए नाबाड के अंतर्गत डीपीआर तैयार कर सरकार को स्वीकृति के लिए भेज दी गयी है।  जैसे ही धनराशि स्वीकृत होगी सड़क निर्माण शुरू कर दिया जायेगा। 
-इंद्र सिंह उत्तम ,लोनिवि अधिशाषी अभियंता भरमौर। 

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.