शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते: जेटली

शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते: जेटली

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 14 Mar, 2019 04:17 am राजनीतिक-हलचल देश और दुनिया ताज़ा खबर स्लाइडर

हिमाचल जनादेश ,नई दिल्ली (डेस्क ) 

 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रॉबर्ट वाड्रा (Jaitley- Vadra ) के 'चतुराई भरे व्यापार' को उजागर करते हुए, कांग्रेस को नसीहत दी कि 'कांच के घरों' में रहने वालों को दूसरों पर पत्थर पर नहीं फेंकना चाहिए। श्री जेटली ने फेसबुक ब्लॉग में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ज़मीन के एक सौदे के बारे में, आयी ताज़ा मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि, परंपरागत रूप में बहुत से लोग सीधे रिश्वत लेकर भ्रष्टाचार करते रहे हैं। लेकिन अब एक नया तरीका ईजाद किया गया है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि, कांग्रेस पार्टी के 'प्रथम परिवार' के संपत्ति अर्जित करने के तरीके का फोरेंसिक परीक्षण कराया जाये जो उससे निकलने वाले तथ्य सारी कहानी खुद ब खुद बयां कर देंगे। 

वित्त मंत्री ने कहा कि, अचानक से पैदा हुए कारोबारी अपने सौदों को लेकर लुभावने प्रस्ताव लाते हैं। बहुत कम निवेश के साथ जबरदस्त मुनाफा बहुत कम लोगों को पूंजी खड़ी करने का मौका देता है। राजनीतिक हिस्सेदारी के माध्यम से ये मौका मिलता है। श्री जेटली ने बोफोर्स तोप सौदे से लेकर एचडीडब्ल्यू पनडुब्बी सौदे, एयरबस, अगुस्ता वेस्टलैंड, खाद घोटाला तक का उल्लेख किया और कहा कि, हर जगह कांग्रेस एवं उसके नेताओं के पांवों के निशान मिले हैं।

उन्होंने लिखा कि, आने वाले समय में मोदी सरकार के 'पहले' कार्यकाल को भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई की शुरुआत के कालखंड के रूप में याद किया जाएगा। उन्होंने 2014 के बाद मोदी सरकार द्वारा देश में एवं अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाए गए कदमों को सिलसिले वार ढंग से विवरण दिया। और कहा कि, सत्ता के गलियारों से दलालों एवं बिचौलियों का सफाया हो गया है। और 5 साल में मोदी सरकार ने दिखा दिया है कि, भ्रष्टाचार मुक्त साफ सुथरी सरकार चलाना संभव है। उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन और प्रयागराज में कुम्भ मेले के आयोजन की भी तुलना की।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.