लेडी डॉ. की मनमानी ने ली 1 साल की बच्ची की जान....

लेडी डॉ. की मनमानी ने ली 1 साल की बच्ची की जान....

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 10 Feb, 2019 03:34 am क्राईम/दुर्घटना सुनो सरकार देश और दुनिया ताज़ा खबर स्लाइडर

हिमाचल जनादेश ,उत्तर प्रदेश (डेस्क )

 

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज (बीएमसी) से फिर बुरी खबर है। यहां एक साल की मासूम ने सिर्फ इसलिए दम तोड़ दिया क्योंकि डॉक्टरों की लापरवाही और मनमानी के चलते उसे समय पर इलाज नहीं मिल सका। इंतहा तो तब हो गई जब यहां की लेडी डॉक्टर ने गुस्सा होकर बच्ची के परिजनों को ही वेंटीलेटर लाने को कह दिया।

हुआ दरअसल यह कि कर्रापुर निवासी एक साल की आंशिक अहिरवार 8 फरवरी की सुबह घर में खेलते हुए खौलते पानी में जा गिरी। घटना में बुरी तरह से जली मासूम को परिजनों ने इलाज के लिए बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के बर्न वार्ड में भर्ती कराया। 

लेकिन यहां इलाज के अभाव में करीब चार घंटे तक मासूम आंशिक दर्द से तड़पती रही। आंशिक की हालत बिगड़ती देख परिजनों ने मामले की शिकायत डीन डॉ. जीएस पटेल से की। डीन के निर्देश पर वार्ड में डॉक्टर तो पहुंची लेकिन जब परिजनों ने उनसे इलाज करने की बात कही तो वे भड़क गईं और बोलीं कि इस बच्ची को वेंटीलेटर की जरूरत है, पहले 1 करोड़ रुपए का वेंटीलेटर लेकर आओ, फिर इलाज शुरू होगा। डॉक्टर के इस जवाब से परिजन शांत हो गए और इलाज में देरी के चलते 24 घंटे के भीतर ही आंशिक ने दम तोड़ दिया।

परिजन डीन कार्यालय पहुंचे और यहां करीब एक घंटे तक शव वाहन खड़ा कर हंगामा किया और प्रबंधन से दोषी डॉक्टर पर कार्रवाई की मांग की। जानकारी के अनुसार बीएमसी में बर्न वार्ड के अलावा पीडिया, मेडीसिन और सर्जरी विभाग में वेंटीलेटर हैं। ऐसे में बच्ची के लिए यहां के वेंटीलेटर का इस्तेमाल किया जा सकता था।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.