अब अगर आठवीं पास करनी है तो पढ़ना ही होगा, बन्द हुई नो डिटेंशन पॉलिसी

अब अगर आठवीं पास करनी है तो पढ़ना ही होगा, बन्द हुई नो डिटेंशन पॉलिसी

संवाददाता (हिमाचल जनादेश) 08 Jan, 2019 04:18 pm प्रादेशिक समाचार राजनीतिक-हलचल सुनो सरकार ताज़ा खबर स्लाइडर काँगड़ा शिमला शिक्षा व करियर आधी दुनिया

हिमाचल जनादेश, शिमला/धर्मशाला(ब्यूरो)

 हिमाचल प्रदेश सहित अन्य राज्यों के छात्रों को अब आठवीं तक पढ़ाई करके ही पास होना पड़ेगा। वहीं कम नंबर आने पर उन्हें अगली कक्षा में दाखिला नहीं मिलेगा। दरअसल केंद्र सरकार ने आरटीई नियमों के तहत नो डिटेंशन पॉलिसी को समाप्त कर दिया है। जिसे प्रदेश की जयराम सरकार भी जल्द ही लागू कर सकती है।

संसद ने नो डिटेंशन पॉलिसी को वापस लेने पर मंजूरी दे दी है, जिसके बाद अब जिन राज्यों में नो डिटेंशन पॉलिसी लागू है वो भी इसे वापस ले सकते हैं। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में साल 2009 में आरटीई नियम लागू हुआ था, जिसके बाद लोगों ने इसका विरोध भी किया था।

नो डिटेंशन पॉलिसी लागू होने के बाद से छात्रों को कक्षा एक से आठवीं तक बिना पढ़े ही पास किया जा रहा है, जिससे कि शिक्षा की गुणवत्ता का स्तर गिरता जा रहा है। जिसके बाद अब जाकर इस पॉलिसी को समाप्त कर दिया गया है।

बताया गया कि भारत सरकार ने नो डिटेंशन एक्ट को पारित करने के बाद सरकारी शिक्षा को पहले की तरह तय नियमों के तहत चलाने के निर्देश दिए हैं। वहीं अगले सत्र से हिमाचल के स्कूलों में परफॉर्मेंस के तहत छात्रों को पास व फेल किया जाएगा। कोई भी छात्र बिना पास हुए अगली कक्षा में प्रमोट नहीं होगा।

Comments

Leave a comment

What's on your mind regarding this news!

Your comment *

No comments yet. Be a first to comment on this.